Meteorological Department

मध्य प्रदेश। मध्यप्रदेश में आमतौर पर मानसून (Monsoon) 17 जून के बाद आता है लेकिन इस बार यह सात दिन पहले यानी बीते गुरूवार को ही आ गया। मानसून के आने के साथ ही मौसम विभाग (Meteorological Department) ने प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश का अलर्ट जारी कर दिया है। पिछले 48 घंटे ने राज्य के भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर सहित कई जिलों में भारी बारिश हुई। जानकारी के मुताबिक दक्षिण मानसून (Monsoon) आने के साथ ही मौसम विभाग (Meteorological Department) ने राज्य के कई हिस्सों में ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक़ मानसून उत्तर सीमा के मध्यप्रदेश के बैतूल और मंडला जिलों से होकर गुजरता है। इन जिलों के साथ ही राज्य के कुछ अन्य इलाकों में भी मानसून पहुंच गया है। मौसम विभाग का कहना है कि मध्यप्रदेश में मानसून 20-25 जून तक पूरी तरह से सक्रिय हो जाएगा।

आईएमडी के अनुसार जबलपुर, अलीराजपुर, उज्जैन, सागर, शहडोल, रीवा, सतना, बैतूल, हरदा, खरगौन, बड़वानी, खंडवा, बुराहनपुर में भारी बारिश हो सकती है। इसके साथ भोपाल, ग्वालियर, होशंगाबाद, खरगौन, बड़वानी, झाबुआ, धार, इंदौर, सीधी, सिंगरौली में गरज के साथ बिजली गिरने का येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग (Meteorological Department)  का कहना है कि जून के शुरुआती सप्ताह में ही पूर्वी मध्यप्रदेश के कई जिलों में अच्छी खासी बारिश हो चुकी है। वहीं ग्वालियर और चंबल संभाग में सबसे कम बारिश दर्ज हुई है।

मौसम विभाग (Meteorological Department)  द्वारा जबलपुर और शहडोल संभाग के जनपदों में अलग-अलग स्थानों पर बारिश के साथ 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलने और बिजली गिरने की संभावना को देखते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं बैतूल और खंडवा समेत मध्यप्रदेश के छह अन्य जिलों के लिए भी ऐसा ही पूर्वानुमान लगाया गया है। मौसम विभाग द्वारा भोपाल, सागर, ग्वालियर और दो संभागों में अलग-अलग जगहों पर 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने, बिजली और गरज के साथ बौछारें पड़ने का यलो अलर्ट जारी किया गया है।

इसे भी पढ़ें:-मौसम विभाग ने जारी किया हाई अलर्ट, दिल्ली सहित इन जगहों में हो सकती है मूसलाधार बारिश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here