Kerala

केरल। तीन दिन की देरी के साथ आज मानसून (Monsoon) ने केरल में दस्तक दे दी है। इसके पहले इसके 31 मई को ही केरल पहुंचने की संभावना जताई जा रही थी लेकिन यह निर्धारित समय पर केरल नही पहुंचा। हालांकि 31 मई को मानसून अंडमान निकोबार द्वीप समूह निकट पहुंच चुका था और केरल में बीते तीन दिन से प्री मानसून (Pre Monsoon) बारिश हो रही थी।

सामान्य रहेगा मानसून 

केरल में मानसून (Monsoon) आने की जानकारी देते हुए भारतीय मौसम विभाग (IMD) के डीजी मृत्युंजय महापात्रा ने बताया राज्य में तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो चुकी है। उन्होंने कहा कि इस बार देशभर में मानसून के सामान्य से बेहतर रहने की संभावना है। मौसम विभाग का कहना है कि इस बार मानसून सामान्य से अच्छा रहेगा। देश के तमाम हिस्सों में जून से सितंबर माह तक दक्षिण-पश्चिम मानसून (Monsoon) की मौसमी बारिश सामान्य से बेहतर रहने की संभावना है। आईएमडी के अनुसार देश भर में कुल मिलाकर इन चार महीनों की अवधि में पश्चिम मानसून मौसमी वर्षा के सामान्य रहने (दीर्घ अवधि औसत (एलपीए) का 96 प्रतिशत से 104 प्रतिशत) की संभावना है।

पछुआ हवाएं भी चल रही हैं 

मौसम विभाग का कहना है कि केरल तट पर तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। वहीं दक्षिण-पूर्वी अरब सागर में बादल छाए हुए हैं और पछुआ हवाएं चल रही है जिससे मौसम ठंडा है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक दक्षिण-पश्चिम मानसून (Monsoon) के उत्तर और दक्षिण भारत में सामान्य रहने की संभावना है। वहीं मध्य भारत में सामान्य से अधिक और पूर्व एवं पूर्वोत्तर भारत में सामान्य से कम रहने का अनुमान है।

मौसम विभाग (IMD) के डीजी मृत्युंजय महापात्रा के मुताबिक पिछले पांच वर्षों यानी कि साल 2017 और 2018 (क्रमश: 30 और 29 मई) को छोड़कर मानसून (Monsoon) हमेशा से ही कुछ दिनों की देरी से आता रहा है। उन्होंने कहा पिछले साल यानी 2020 में इसके एक जून को आने का अनुमान लगाया गया था लेकिन उस साल भी 5 जून को आया था। इसके पहले 2019 में भी 6 जून तक मानसून आने की संभावना जताई गयी थी लेकिन तब भी यह 8 जून को आया था।

इसे भी पढ़ें:-मौसम विभाग ने जारी किया हाई अलर्ट, दिल्ली सहित इन जगहों में हो सकती है मूसलाधार बारिश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here