रायपुर। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में नक्सली हमला हुआ है, जिसमें आईटीबीपी (भारत तिब्बत सीमा पुलिस) के दो जवान शहीद हो गए। बस्तर के आईजी पी सुंदरराज ने बताया कि नारायणपुर जिले में आईटीबीपी कैंप कडेमेटा के पास नक्सली हमले में दो आईटीबीपी के जवान शहीद हो गए। नक्सली मौके से एक एके-47 राइफल, दो बुलेट प्रूफ जैकेट और एक वायरलेस सेट लूट कर मौके से भाग गए। इससे पहले रविवार को कुआकोंडा थाने से पुलिस दल बड़ेगुडरा और ऐटेपाल गांव की तरफ निकली थी। ऐटेपाल गांव के करीब जंगल में तीन संदिग्ध भागने लगे।

पुलिस ने घेराबंदी कर उन्हें पकड़ा। पूछताछ के दौरान उन्होंने अपना नाम हुंगा करटाम, आयता माड़वी और लाठी करटाम बताया। गौरतलब है कि बीते महीने सुकमा में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच एनकाउंटर में एक माओवादी को मार गिराया गया था। रायपुर से करीब 400 किलोमीटर दूर चिंतागुफा थाना क्षेत्र के मिनपा गांव के पास एक जंगल में तड़के मुठभेड़ हुई, जब सुरक्षा बलों की एक संयुक्त टीम तलाशी अभियान पर निकली थी। बताते चलें कि कि इसी माह में बीते पांच अगस्त की सुबह दंतेवाड़ा जिले में नक्सली द्वारा किए गए एक आईईडी ब्लास्ट में 12 लोग घायल हो गए, जिसमें से एक शख्स की मौत हो गई थी।

दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि जिले के घोटिया में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर एक निजी वाहन को उड़ा दिया। हमला सुबह साढ़े सात बजे किया गया था माओवादियों द्वारा किए गए आईईडी विस्फोट में कम से कम 12 लोग घायल हो गए थे। दंतेवाड़ा पुलिस घायलों को बचाने और अस्पताल पहुंचाने के लिए मौके पर पहुंची। इस हमले में घायल एक शख्स ने दम तोड़ दिया। वहीं मामूली रूप से चोटिल ग्रामीणों के प्रारंभिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। दंतेवाड़ा पुलिस ने मामला दर्ज कर इलाके में नक्सलियों के खिलाफ अभियान चलाया गया था, लेकिन नक्सलियों के हौसले बढ़ते ही जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें:सस्ती बिकिनी पहनकर पूल में उतरीं काजल अग्रवाल, कीमत सुनकर हैरान रह गये लोग