10 सितंबर से शुरू हो रही रेलवे सेवा, टिकट बुकिंग करने से पहले रखें इन बातों का ध्यान 

94

कोरोना काल में तकरीबन पांच माह से ठप पड़ी रेलवे सेवाओंं को फिर से संचालित करने के लिए अब पूरा प्लान तैयार है। बता दें कि यह रेलवे सेवा आगामी 10 सितंबर से शुरू होने जा रही है। भारतीय रेलवे 80 स्पेशल ट्रेनों को शुरू करने पर विचर विमर्श कर रहा है। उधर, इन ट्रेनों में टिकट बुकिंग कराने के लिए कुछ दिशानिर्देश तय किए गए हैं, जिसका आपको पालन करना होगा। ध्यान रहे कि कोरोना काल में ऐसा बहुत कुछ बदल दिया गया है, जो एक यात्री के आम जीवन को प्रभावित कर सकता है।

ये भी पढ़े :रेलवे ने दी 80 और स्पेशल ट्रेनों को चलाने की मंजूरी, जानें कब से कर सकेंगे बुकिंग

तो ऐसे हैं दिशानिर्देश 
इस नवीन दिशानिर्देश के मुताबिक, आप आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर जाकर अपना टिकट बुक करा सकते हैं। यदि आपने एप डाउनलोड किया हुआ है तो आप मोबाइल एप पर टिकट बुक करा सकते हैं। इसके इतर यात्री सुविधा केंद्र, पोस्ट ऑफिस, कॉमन सर्विस सेंटर पर भी टिकट बुक करा सकते हैं। अगर आपका कहीं एकाएक यात्रा करने का प्लान बन गया है तो भी अपना टिकट बुक करा सकते हैं। आप अपनी यात्रा से एक दिन पूर्व वेटिंग टिकट की बुकिंग भी करा सकते हैं।

हालांकि, इस दौरान नियमों के मुताबिक, वेटिंग टिकट धारकों को ट्रेन पर चढ़ने की अनुमति नहीं होगी। ट्रेनों के लिए कोई अनरिज़र्व्ड टिकट नहीं जारी किए जाएंगे और न ही ट्रेन पर सवार होने के बाद टिकट देने का कोई प्रावधान किया गया है। कंरट काउंटर स्टेशन भी अब खोल दिए गए हैं। ट्रेन रवाना होने से चार घंटे पहले ही आरक्षण चार्ट जारी कर दिया जाएगा। यदि सीट खाली रहता है तो फिर तत्काल टिकट बुकिंग की भी सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इसी तरह स्टेशन के करंट काउंटर से ट्रेन चलने के आधे घंटे पहले तक टिकट लिया जा सकता है।

इसके साथ ही यदि आप अपना कंफर्म टिकट रद्द करवाते हैं तो फिर कोटे के तहत आरक्षित टिकट की बुकिंग को रद्द किया जा सकता है। तो इन सीटों की बुकिंग आप करेंट बुकिंग पर कर सकते हैं क्योंकि ट्रेन के 2 चार्ट एक 4 घंटे पहले और एक 2 घंटे पहले बनाया जाता है। वहीं, अगर पहले और दूसरे चार्ट के लिए किसी टिकट को रद्द किया जाता है तो ऐसे यात्री के लिए खाली सीटों के लिए कंरट टिकट बुकिंग कराया जा सकता है। वहीं, अगर एक एनपीआर पर चार लोगों का टिकट हो तो अगर एक टिकट कंफर्म होता है तो सभी यात्री को अनुमति मिलेगी। अगर यात्री चाहे तो अपना टिकट रद्द करा कर पैसा भी वापस ले सकते हैं। कोरोना काल के दौरान किसी भी यात्री को ट्रेनों में सफर करने की अनुमति तभी मिलेगी, जब वो बिल्कुल स्वस्थ्य रहेगा।

ये भी पढ़े :दशहरा, दिवाली और छठ की तैयारियां शुरू, रेलवे इन रुट्स पर चलाएगा 120 नई स्पेशल ट्रेनें