tirath singh rawat

पिछले कुछ दिनों से चल रहे सियासी अटकलों पर विराम लगाते हुए उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। शुक्रवार देर रात देहरादून के राजभवन पहुंच कर राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया। जिसके चलते उत्तराखंड को फिर से आज नया सीएम मिल सकता है। इसी कारण आज विधायक दलों की आज मीटिंग होगी। बीती 10 मार्च को तीरथ रावत ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। रावत चार महीने का कार्यकाल भी पूरा नहीं कर पाए। बहरहाल, आज देहरादून में भाजपा विधायक दल की मीटिंग में नए मुख्यमंत्री का चुनाव किया जाएगा। हालांकि बीजेपी संगठन की ओर से अब तक किसी एक नाम या नामों के पैनल की जानकारी नहीं दी है।

बता दें सीएम तीरथ सिंह रावत के कार्यकाल की शुरुआत राष्ट्रीय स्तर पर विवादों से हुई। अचानक से ही कार्यकाल का समापन भी हो गया। उनके इस राजनीति सफर में सोशल मीडिया का ड्रामा तो रहा ही साथ में कोरोना की दूसरी लहर की चुनौती भी थी। कोरोना के चलते जब बेरोजगारी का मुद्दा चरम पर पहुंचा तो पूर्व सीएम त्रिवेंद्र के विवादित फैसलों पर पलटने की बातें भी काफी सुर्खियों में रही। 10 मार्च 2021 को शपथ ग्रहण करने के बाद मुख्यमंत्री तीरथ के कार्यकाल की शुरुआत विवादित बयानों से हुई। उन्होंने विवादित ब्यान दिया कि महिलाओं का फटी हुई जींस पहनना कैसे संस्कार हैं। उनके इस ब्यान के बाद सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में बना रहा उनको खूब ट्रोल भी किया जाने लगा।

इस बात को लेकर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुख्यमंत्री तीरथ की जमकर आलोचना की। जिसके बाद रातोरात उनका यह बयान सोशल मीडिया में टॉप ट्रेंड में आ गया। हालांकि बाद में उन्होंने इस बारे में अपनी सफाई भी पेश की। उसी तरह, मुख्यमंत्री तीरथ का एक और बयान विवादों में आया जब उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी को भगवान राम और कृष्ण का अवतार माना जाएगा। उनके इस बयान पर भी उन्हें खूब आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। इस प्रकार जूझते-जूझते 100 दिन की उपलब्धियों का जश्न मनाकर मुख्यमंत्री तीरथ का यह कार्यकाल उत्तराखंड के राजनैतिक इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया।

सीएम तीरथ सिंह रावत ने कैंट रोड स्थित सीएम आवास में जाने का कोई भी लालच और मोह नहीं किया। उन्होंने कोविड की तीसरी लहर में सीएम आवास को कोविड केयर सेंटर बनाने की घोषणा की दी थी। मुख्यमंत्री बनने के दिन से कमान संभालने के सीएम के बारे में यह चर्चा थी कि वह सीएम आवास में नहीं रहेंगे। उन्होंने अपने जीएमएस रोड स्थित आवास पर ही रहना ठीक समझा। जिस दिन से तीरथ सिंह रावत मुख्यमंत्री बने उसी दिन से उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम रटना शुरू कर दिया। यहां तक कि जब उन्होंने सीएम पद से इस्तीफा दिया तब भी उनकी जुबान पर पीएम मोदी का नाम था। उन्होंने जब इस्तीफा दिया उसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया।

सीएम तीरथ सिंह रावत ने इस्तीफा देते समय कहा कि सांविधानिक संकट के कारण उन्हें अपने पद से त्यागपत्र देना पड़ा। जब उनसे ये पूछा गया कि उनके पास सल्ट विधानसभा से उपचुनाव लड़ने का मौका था, इस पर उन्होंने जवाब दिया कि वे कोरोना से पीड़ित थे, इसलिए चुनाव में नहीं उतर सके। इस्तीफा देने के बाद जब उनसे संवाददाताओं ने पहला सवाल यही पूछा कि उनके त्यागपत्र देने के क्या कारण है? इस सवाल पर उन्होंने लोक प्रतिनिधित्व कानून की धारा 151(ए) के बारे में जिक्र किया। उन्होंने आगे कहा कि सांविधानिक संकट के कारण उन्होंने इस्तीफा दिया। उन्होंने आगे कहा कि वह दिल से अपने प्रधानमंत्री मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का शुक्रिया करते हैं। जिन्होंने मुझे यहां तक पहुंचाया है।

इसे भी पढ़ें:- जिला पंचायत सदस्यों के पैरों को छूते नजर आए पूर्व सांसद रामकिशुन, वीडियो वायरल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here