यूपी के एटा से लगा झटका, पाकिस्तान में हाहाकार मचना तय!

1
544
track
Loading...

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आंतकी हमले के बाद से पाकिस्तान के प्रति देश में आक्रोश है। पाकिस्तान जाने वाला सभी सामान इस वक्त रोक दिया गया है। देश का किसान नहीं चाहता है कि आंतक के गढ़ में हमारी सब्जी तक जाए। वहीं एटा के लहसुन और प्याज के कारोबारियों ने पाकिस्तान से अपने व्यापारिक रिश्ते खत्म कर दिए हैं। पुलवामा हमले से पहले पाकिस्तान से करीब 20 लाख रुपये का आर्डर था। लेकिन हमले के बाद गुस्साए कारोबारियों ने माल नहीं भेजा।

कारोबारियों का कहना है कि वह “किसी भी तरह पाकिस्तान को सबक सिखा सकें यह उनके लिए सौभाग्य की बात होगी”। बता दें प्रति वर्ष पाकिस्तान को एटा से तकरीबन तीन करोड़ रुपये का लहसुन और प्याज भेजा जाता था।

लहसुन और प्याज को उत्पादन की दृष्टि से देखें तो एटा इसका बड़ा क्षेत्र हैं। यहां प्रतिवर्ष 150 हेक्टेयर भूमि पर प्याज की और 1000 हेक्टेयर में लहसुल की खेती होती है। सरकारी आंकड़ों के हिसाब से यहां हर साल नौ हजार क्विंटल प्याज और 40 हजार क्विंटल लहसुन का उत्पादन होता है।

कारोबारियों का कहना है कि पाकिस्तान भेजे जाने वाले प्याज के ज्यादातर आर्डर बंगाल के कारोबारियों से मिलते थे। लेकिन पुलवामा हमले के बाद जिस कदर लोगों में आक्रोश पनपा उससे एटा के कारोबारियों ने बंगाल के कारोबारी से पाकिस्तान को प्याज भेजने से इंकार कर दिया। कारोबारियों ने बताया कि “बंगाल से हो कर पाकिस्तान जाने वाला लहसुन और प्याज पर पूरी तरह से बंद कर दिया गया है”।

हमारा यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें
Loading...

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here