चीन को मुंहतोड़ जवाब, दक्षिण चीन सागर में भारत ने तैनात किए युद्धपोत, देखता रह गया ड्रैगन

284
चीन सागर

भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। 15 जून को दोनों देशों की सेनाओं के बीच खूनी झड़प हुई। जिसमें दोनों देशों को काफी नुकसान हुआ। इसके बाद से ही भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने है। जहां एक तरफ चीन एलएसी पर सैनिकों की संख्या में इजाफा कर रहा है। तो दूसरी तरफ भारत भी चीन की हर चाल का जवाब दे रहा है लेकिन अब भारत ने चीन की नाक के नीचे एक ऐसा काम किया है। जिससे चीन पूरी तरह बौखला गया है दरअसल भारतीय नौसेना ने दक्षिण चीन सागर में अपने अग्रणी युद्धपोत को तैनात किया है। जिसके बाद चीन ने भारत के इस कदम पर आपत्ति जताई है।

सरकारी सूत्रों ने एएनआई को बताया कि, गलवान संघर्ष शुरू होने के तुरंत बाद ही भारतीय नौसेना ने अपने मोर्चे के एक युद्धपोत को दक्षिण चीन सागर में तैनात कर दिया था। जहां पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की नौसेना समुद्र के ज्यादातर भाग पर अपना अधिकार होने का दावा करती है और इस क्षेत्र के हिस्से में किसी भी अन्य सेना की उपस्थिति पर आपत्ति जताती है। दक्षिण चीन सागर में भारतीय नौसेना के युद्धपोत की तत्काल तैनाती का चीनी नौसेना और सुरक्षा प्रतिष्ठान पर वांछित प्रभाव पड़ा है क्योंकि उन्होंने भारत के इस कदम की राजनयिक स्तर में हुई वार्ता में शिकायत भी की है।

सूत्रों के बताया कि भारत लगातार अमेरिका के संपर्क में था। अमेरिकी नौसेना ने दक्षिण चीन सागर में जहां अपने विध्वंसक और फ्रिजेट तैनात किए थे, भारतीय युद्धपोत लगातार अपने अमेरिकी समकक्षों के साथ सुरक्षित संचार प्रणाली को लेकर संपर्क बनाए हुए थे। इस दौरान भारतीय युद्धपोथ को लगातार अन्य देशों के सैन्य जहाजों की आवाजाही की स्थिति के बारे में अपडेट किया जा रहा था ताकि नियमित अभ्यास बना रहे। इस पूरे मिशन को काफी गोपनीय तरीके से अंजाम दिया गया था।

ये भी पढ़ें:-बेनकाब हुआ ड्रैगन, वायरल हुई गलवान में मारे गए चीनी सैनिक की कब्र, आप भी देखिए