महाराष्ट्र। महाराष्ट्र(Maharashtra) के नागपुर(Nagpur) से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जहां एक नाबालिग लड़की से 6 लोगों ने गैंगरेप(Gangrape) की शर्मनाक घटना को अंजाम दिया। दरअसल, नाबालिग(Minor) बच्ची अपने घर से झगड़ा करके बाहर निकली थी, जिसके बाद रास्ते में उसे एक ऑटो ड्राइवर मिला और वह उसे अपने साथ ले गया जिसके बाद उसने अपने साथियों के साथ मिलकर गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। वहीं दो घंटे के अंदर नाबालिग को दरिंदों ने दो बार अपनी हवस का शिकार बनाया। पुलिस(police) ने अभी तक तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि गुरुवार रात टिमकी इलाके के एक कमरे में चार लोगों ने लड़की का यौन उत्पीड़न किया और बाद में मेयो अस्पताल चौक के पास ऑटोरिक्शा में सवार दो लोगों ने फिर उसका यौन उत्पीड़न किया.

बता दें कि एक नाबालिग लड़की अपने घरवालों से झगड़ा करके घर से निकली थी. उसके एक दोस्त ने उसे अपने ऑटोरिक्शा में लोहापुल इलाके में छोड़ दिया, जहां उसकी मुलाकात एक ऑटोरिक्शा चालक से हुई, जिसकी पहचान बाद में शाहनवाज(Shahnwaj) उर्फ ​​सना मोहम्मद राशिद (25) के रूप में हुई. उसके बाद लड़की ने ड्राइवर ने पैसे और आश्रय देने का अनुरोध किया. जिसके बाद मौके का फायदा उठाते हुए ड्राइवर ने ‘उसे आश्रय देने का बहाना बनाते हुए उसे धोखे से अपने ऑटोरिक्शा से एक अवैध शराब की दुकान पर ले गया जहां उसने शराब पी और लड़की को भी जबरन पीने के लिए मजबूर किया.’

फिर वह लड़की को दो लोगों के किराए के कमरे में ले गया, जो नागपुर रेलवे स्टेशन(Nagpur railway station) पर तिमकी इलाके में लोडर के रूप में काम करते हैं, जहां शाहनवाज, उसके दोस्त मोहम्मद तौसिफ मोहम्मद यूसुफ (26) और दो लोडर ने कथित तौर पर लड़की के साथ बलात्कार किया।

उसके बाद शाहनवाज लड़की को अपने तिपहिया वाहन से मेयो अस्पताल चौक ले गया और वहीं छोड़ गया. उसके बाद वहां मौजूद दो अन्य ऑटोरिक्शा चालक लड़की के पास पहुंचे और उसे जबरन अपने तिपहिया में ले गए, जहां उन्होंने भी लडकी के साथ बलात्कार की घटना को अंजाम दिया.

गनीमत यह रही कि देर रात दो लोगों ने लड़की को सड़क पर अकेला खड़ा देखा और उससे पूछताछ की जिसके बाद लड़की ने बताया कि उसे कुछ पैसों की जरूरत है ताकि वह नासिक के लिए ट्रेन में चढ़ सके. जिसके बाद उन लोगों ने उसे कुछ पैसे दिए. नागपुर रेलवे स्टेशन पहुंचने के बाद लड़की ने ट्रेन का टिकट खरीदा और प्लेटफॉर्म पर आ गई.

जहां गश्त कर रहे रेलवे पुलिस की टीम ने उसे देखा. कुछ गड़बड़ी होने का शक होने पर जीआरपी कर्मियों ने उसे विश्वास में लिया और फिर बाल देखभाल केंद्र को सौंप दिया. पुलिस ने कहा कि जीआरपी ने रविवार को मोमिनपुरा इलाके के सभी निवासी शाहनवाज, यूसुफ और मोहम्मद मुशीर (23) को गिरफ्तार कर सीताबुलडी पुलिस को सौंप दिया बाकी आरोपियों की तलाश जारी है। वहीं पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है।

इसे भी पढ़ें-राखी सावंत को गोद में उठाकर झूमते नजर आए विकास गुप्ता, वीडियो देख लोगों ने जमकर किया ट्रोल