LAC पर तनाव! घुसपैठ कर रहे चीनीयों को भारतीय सेना ने खदेड़ा, ड्रैगन बौखलाया

165

लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के बीच पिछले तीन महीने से तनाव का माहौल जस के तस बना हुआ है। दोनों देशों में कई दफा शांतिवार्ता को लेकर भी चर्चा की गई, लेकिन अब ऐसा लगता है कि ड्रैगन इस मसले को शांति से सुलझाना नहीं चाहता। दरअसल 29-30 अगस्त की रात को चीन की सेना ने भारत की सीमा में दोबारा घुसपैठ करने की कोशिश की, बताया जा रहा है कि ड्रैगन ने ईस्टर्न लद्दाख के पैंगोंग इलाके में अपने 500 सैनिकों को घुसपैठ के लिए भेजा था, हालांकि भारतीय सेना के जवानों ने उन्हें सीमा से ही खदेड़ दिया। सूत्रों के अनुसार यहां पर चीनी सैनिक कैंप लगाने की कोशिश में थे. इसलिए वह भारत की सीमा में घुसपैठ कर डेरा डालना चाहते थे। लेकिन समय रहते ही भारतीय जवानों ने चीनी सेना की इस नापाक चाल पर पानी फेर दिया। हालांकि, ये भी बात सामने आई है कि दोनों देशों की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प नहीं हुई है। बता दें कि चीन ने इससे पहले भी गलवान घाटी के पास जबरन कैंप डालने की जुर्रत की थी, जिसे भारतीय सेना ने कामयाब नहीं होने दिया था।

ये भी पढ़ें:-LAC पर होने वाला है कुछ बड़ा! भारतीय सेना ने तैनात की खतरनाक मिसाइल

बीती रात चीनी सैनिकों द्वारा सीमा में की गई घुसपैठ करने कोशिश पर चीन के विदेश मंत्रालय ने हालात से अलग बयान दिया है। चीन की ओर से बयान दिया गया कि बॉर्डर पर मौजूद चीनी सैनिकों ने LAC को पार नहीं किया है, दोनों देशों के बीच इस मसले को लेकर बातचीत जारी है।

बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद से LAC पर तनाव का माहौल चरम पर है, सूत्रों के अनुसार अब इस विवाद को सुलझाने के लिए बैठक जारी है, दोनों ओर कमांडर लेवल के अफसर मसले को सुलझाने की कोशिश में लगे हैं।

मालूम हो कि चीनी सेना के जवानों का भारतीय सेना के साथ पिछली बैठकों में जो समझौता हुआ था उसका चीनी सैनिकों ने उल्लंघन किया है। चीनी सैनिकों ने 29-30 की रात को फिर से घुसपैठ करने की कोशिश की, इसको लेकर सोमवार

की सुबह भारत सरकार की ओर से लद्दाख बॉर्डर पर ताजा स्थिति को लेकर एक बयान भी जारी किया है।

ये भी पढ़ें:-चीन को मुंहतोड़ जवाब, दक्षिण चीन सागर में भारत ने तैनात किए युद्धपोत, देखता रह गया ड्रैगन