JEE-NEET परीक्षा पर सुप्रीम कोर्ट की बड़ी सुनवाई, 6 राज्यों की याचिका पर सुनाया ये फैसला

85
JEE-NEET Exams

कोरोना वायरस का कहर देशभर में तेजी से बढ़ रहा है. ऐसे में काफी समय से सभी शैक्षणिक संस्थान बंद पड़े हैं. स्टूडेंट्स की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अभी सरकार ने इन गतिविधियों पर बैन लगा रखा है. जिसमें कई तरह की परीक्षाएं भी अब तक रद्द हो चुकी हैं. लेकिन कुछ ही दिन पहले मोदी सरकार की ओर से JEE-NEET समेत कुछ परीक्षाओं को लेने का ऐलान किया गया था. जिसे लेकर विपक्ष काफी ज्यादा नाराज था. इसके लिए मोदी सरकार (Modi Government) ने साफ शब्दों में कह दिया था कि यदि विपक्ष को कोई परेशानी होती है तो वो सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा इस मामले में खटखटा सकती है.

ये भी पढ़ें:- Special Trains: स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी, UP में रेलवे परीक्षार्थियों के लिए चला रही है ये 5 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें

इसी बीच JEE-NEET की परीक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है. दरअसल JEE-NEET की परीक्षा को टालने को लेकर 6 राज्यों की तरफ से जो रिव्यू पिटीशन सुप्रीम कोर्ट में डाली गई थी उसे कोर्ट ने सीधा खारिज कर दिया है. जिससे एक बात तो स्पष्ट हो गई है कि अब ये परीक्षाएं रद्द नहीं होंगी. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मोदी सरकार के ऐलान के बाद ही विपक्ष के 6 राज्यों के कैबिनेट मंत्रियों ने NEET और JEE परीक्षा को टालने के लिए रिव्यू पिटीशन कोर्ट में डाली थी. इस याचिका के जरिए कोर्ट से 17 अगस्त को दिए गए आदेश पर पुनर्विचार करने की मांग उठाई गई थी. जिसे मानने से उच्च न्यायालय ने भी मना कर दिया है.

दरअसल पिछले दिनों ही कांग्रेस की प्रमुख सोनिया गांधी की अध्यक्षता में इस परीक्षा की डेट को फिर से टालने को लेकर 7 राज्यों के सीएम ने एक साथ बैठक की थी. इसमें पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी शामिल थे. इन दोनों की ओर से ही ये बयान दिया गया था कि सारे राज्य एक होकर इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाएं. उसके बाद सभी ने मिलकर ये निर्णय लिया था कि वो सुप्रीम कोर्ट में इस परीक्षा को लेकर जारी किए गए आदेश के खिलाफ पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर करेंगे.

आपको बता दें कि 17 अगस्त वाले दिन भी इस NEET और JEE परीक्षा को लेकर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court On JEE-NEET Exam) ने इसे स्थगित करने से साफ मना कर दिया था. पीठ की अध्यक्षता कर रहे जस्टिस अरुण मिश्रा की ओर से ये सुनवाई में ये कहा गया था कि यदि ऐसे ही परीक्षा की डेट टालते रहे तो छात्रों के करियर पर बड़ा संकट आ जाएगा. इसलिए इस महामारी में भी जीवन को चलाने के लिए आगे बढ़ना होगा.

ये भी पढ़ें:- Exam 2020: इस दिन होगी NEET और JEE छात्रों की परीक्षा, HRD मंत्रालय ने जारी की तारीख