शिवसैनिकों की गुंडई से नाराज रामदास आठवले, बोले- महाराष्ट्र में लागू हो राष्ट्रपति शासन

104

महाराष्ट्र की राजनीति में इन दिनों सियासी बयानबाजी जोर पकड़ रही है, हाल ही में हुए पूर्व नौसेना के अधिकारी से मारपीट का विवाद बढ़ता ही चला जा रहा है। अब बात उद्धव सरकार के गिराने तक पहुंच गई है। पूर्व नौसेना के अधिकारी से शिवसेना के गुंड़ों ने जो बर्ताव किया, उसको लेकर केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने उद्धव सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बता दें कि रामदास आठवले रविवार को पूर्व नौसेना के अधिकारी मदन शर्मा से मिलने उनके घर पहुंचे थे। इस दौरान उनसे मुलाकत कर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, ‘हम उद्धव सरकार के इस रवैये की कड़ी निंदा करते हैं’ रामदास आठवले ने कहा कि शिवसेना अपना इतिहास भूल बैठी है, आज गुंड़ों जैसा बर्ताव महाराष्ट्र में शोभा नहीं देता। केंद्रीय मंत्री ने कहा, अगर उद्धव ठाकरे सरकार नहीं चला सकते तो इस्तीफा दे दें। जनता को अपनी सरकार चुनने दीजिए। इसके साथ ही रामदास आठवले ने कहा कि महाराष्ट्र में तत्काल प्रभाव से राष्ट्रपति शासन लागू होना चाहिए।

ये भी पढ़ें:-अर्णब की बेबाकी से परेशान उद्धव ने केबल ऑपरेटरों को दी अंजाम भुगतने की धमकी, जानें पूरा माजरा

पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा ने केंद्रीय मंत्री को अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि शिवसेना के कमलेश कदम ने उन्हें धमकी दी थी। मुझे गेट पर बुलाया गया था बात करने के लिए लेकिन उन्होंने हमला कर दिया। शिवसैनिकों के हमले का शिकार हुए पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा ने महाराष्‍ट्र सरकार से अपनी सुरक्षा की अपील की है। पूर्व नौसेना अधिकारी का कहना है कि वे लोग मेरे बच्चों और परिवार को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं, इसलिए मेरा सीएम उद्धव ठाकरे से निवेदन है कि वो मेरे परिवार को सुरक्षा प्रदान करें।

मालूम हो कि यह घटना 11 सितंबर को  मुंबई पश्चिमी उपनगर में हुई थी, आरोप है कि इस घटना के संबंध में मुंबई पुलिस ने शिवसेना नेता कमलेश कदम समेत छह अन्‍य लोगों को गिरफ्तार किया था, लेकिन शनिवार सुबह समता नगर पुलिस स्टेशन ने उन्हें जमानत दे दी। इस घटना के बाद महाराष्ट्र में आरोप-प्रत्यारोप का दौर अपने चरम पर पहुंच गया, बीजेपी पूरी तरह से उद्धव सरकार पर हमलावर है।

ये भी पढ़ें:-LIC की इस पॉलिसी में मिलते हैं 19 लाख रुपए, ऐसे ले सकते हैं स्कीम का फायदा