पंजाब में सिख तीर्थ यात्रियों के संक्रमित मिलने से हड़कंप, दिग्विजय ने तबलीगी मरकज से की तुलना!

_digvijaya singh-sikh pilgrims corona

कोरोना वायरस की भयावह महामारी के चलते अब लोगों के बीच दहशत का माहौल बढ़ता जा रहा है. इसी बीच भारी संख्या में कोरोना से संक्रमित मिले सिख तीर्थ यात्रियों से सरकार में हड़कंप मच गया है, तो वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने इस मसले को लेकर कई सवाल खड़े कर दिए हैं. साथ ही उन्होंने अपने बयान में ये तक कह दिया है कि जो भी सिख तीर्थ यात्री कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं, उनसे पंजाब में और खतरा बढ़ सकता है. क्या इसकी तबलीगी मरकज से कोई तुलना की जा सकती है.

ये भी पढ़ें:- तबलीगी मुखिया मौलाना साद की कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव, क्राइम ब्रांच के सामने इस दिन होगा पेश!

दअसल अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से इंडिया टुडे की एक खबर को शेयर करते हुए दिग्विजय सिंह सवाल उठाते हुए कहा कि क्या सिख तार्थ यात्रियों की तुलना तबलीगी मरकज मामले से की जा सकती है? उन्होंने लिखा कि, ‘सिख तीर्थ यात्रियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने से पंजाब में खतरा पैदा हो गया है. क्या इसकी तबलीगी मरकज से कोई तुलना की जा सकती है?’ आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में महाराष्ट के नांदेड़ से वापस पंजाब लौटे सिख श्रद्धालुओं के संक्रमित पाए जाने के बाद राज्य में कोरोना के आंकड़ों में काफी तेजी देखने को मिली है. इस समय पंजाब में कुल संक्रमितों की संख्या 780 हो गई है. चौंकाने वाली बात तो ये है कि इनमें से कोरोना के नए 400 मामले पिछले 72 घंटे में ही तेजी से बढ़े हैं, जिसमें से नांदेड़ से आए 391 तीर्थ यात्रियों की भी संख्या शामिल हैं.

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी ये बात स्वीकार की है कि राज्य में कोरोना के मामले सिख तीर्थ यात्रियों की वजह से बढ़े हैं. इतना ही नहीं एक निजी चैनल से बात करते हुए अमरिंदर सिंह ने ये भी बताया था कि उनके राज्य में कोरोना के केस तीन रास्तों से आए हैं. पहला एनआरआई, दूसरा नांदेड़, तीसरा राजस्थान और दूसरे राज्यों से आए लोग हैं. इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि पंजाब ने शुरूआत में कोरोना पर कबू पा लिया था, लेकिन बाद में नांदेड़ और बाकी जगह से आए लोगों से संक्रमण राज्य में तेजी से फैल गया. आपको बता दें कि पिछले काफी दिनों से एक वर्ग ज्यादा लोगों के निशाने पर रहा, और वो था तबलीगी जमात, जिसे कोरोना के इजाफे में सबसे ज्यादा गुनहगार माना जा रहा था. लेकिन हाल ही में मिले श्रद्धालुओं को लेकर एक बार फिर राजनीति शुरू हो गई है.

ये भी पढ़ें:- तबलीगी जमातियों की हरकतों पर फूटा वीके सिंह का गुस्सा, बोले- इनके साथ आतंकियों जैसा व्यवहार हो