कांग्रेस पार्टी की फिर बढ़ी टेंशन, पंजाब सरकार के खिलाफ सिद्धू के बयान पर चढ़ा सियासी पारा

Navjot Singh Sidhu-congress

कोरोना संकट के बीच अब पंजाब के पूर्व डिप्टी, सीएम और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) एक फिर मैदान में मुख्यीमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह (CM Capt. Amrinder Singh) सरकार के खिलाफ उतर आए हैं. दरअसल हाल ही में लॉन्च किए अपने य़ूट्यूब “जीतेगा पंजाब” चैनल के जरिए उन्होंने राज्य की सराकारी मशीनरी पर सीधा कई सवाल दागे हैं. एक वीडियो को साझा करते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने राजनीति में बैठे लोगों पर हमला बोला है. हालांकि उन्होंने वीडियो में किसी का नाम नहीं लिया है. बता दें कि इस वीडियो में जनता को संबोधित करने के साथ ही सिद्धू ने कहा है कि सरकार उनके द्वारा भरे हुए टैक्स और खून-पसीने की गाढ़ी कमाई से चलता है. इतना ही नहीं सिद्धू ने तो ये भी कह दिया है कि जो भी पैसा उन्होंने टैक्स में दिया है, वो उन्हें अब वापस दे देना चाहिए, न कि जूती बनकर उनके सिर पर ही आकर लगना चाहिए.

ये भी पढ़ें:- 9 महीने बाद मीडिया के सामने खुलकर आए नवजोत सिंह सिद्धू, इस नए मंच से वापसी करने का किया ऐलान

इसके आगे को संबोधित करते हुए सिद्धू ने कहा कि अब वक्त बदल रहा है, ऐसे में उन्हें इस बात की भी उम्मीद है कि पंजाब की जनता राज्य में बदलाव करेगी और आनवे वाले 5 सालों में किसी ऐसे व्यक्ति को सत्ता पर बिठाएगी, जो उनकी सेवा करें न कि उन्हीं के सिर पर बैठकर राज करें. आपको याद होगा कि बीते दिन भी सिद्धू ने मोदी और पंजाब की कैप्टवन अमरिंदर सिंह की सरकार पर सीधा निशाना साधते हुए ये कहा था कि कोरोना टेस्ट के लिए भारत को दक्षिण कोरिया का मॉडल अपनाना चाहिए. या यूं कहें कि उन्होंने ये मौजूदा सरकार को सुझाव दिया था. इसके आगे तो उन्होंने आंकड़ों की बात करते हुए कहा कि 133 करोड़ आबादी वाले देश में अब तक केवल 1 लाख 14 हजार के आसपास ही टेस्ट हुए हैं, जिनकी संख्या बहुत ही कम है.

आपको बता दें कि नवजोत सिद्धू ने ये भी बताया कि, वो अब कोरोना महामारी को लेकर पंजाब की जनता से बातचीत कर रहे हैं. अगर दक्षिण कोरिया पर नजर डालें तो वहां पर टेस्टिंग के जरिए ही कोरोना के ग्राफ को रोका गया है. यहां तक कि अब सिंगापुर जैसे देश भी दक्षिण कोरिया की ही ट्रिक को अपना रहे हैं. इसके आगे उन्होंने पंजाब की बात करते हुए कहा कि तीन करोड़ आबादी वाले राज्य में अभी तक सिर्फ 2500 ही टेस्ट किए गए हैं. हालांकि उनके इस बयान से आप ये अंदाजा लगा सकते हैं कि बिना किसी के नाम लिए ही उन्होंने पंजाब की जनता को इशारों-इशारों में एक बार फिर ये बता दिया है कि वो चुनावी बिगुल फूंकने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.

ये भी पढ़ें:- पंजाब कैबिनेट में नवजोत सिंह सिद्धू की वापसी, बनाए जा सकते हैं डिप्टी CM