rahul gandhi

नई दिल्ली। लखीमपुर में किसानों को रौंदे जाने और उसके बाद हुई हिंसा मंे कुल आठ लोगों की मौत का मामला अब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दरवाजे पर पहुंच चुका है। यह ऐसा पहला मामला होगा जिसमें विपक्ष ने राष्ट्रपति से गुहार लगाई है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने लखीमपुर खीरी हिंसा के मामले को लेकर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा टेनी की बर्खास्तगी की मांग करते हुए बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। कांग्रेस के इस प्रतिनिधिमंडल में राहुल गांधी, नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी शामिल रहीं।

ज्ञात हो कि हाल ही में कांग्रेस ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर मिलने का समय मांगा था। कांग्रेस लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा टेनी को बर्खास्त करने की मांग कर रही है। मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि हमने राष्ट्रपति से अनुरोध किया है कि आरोपी के पिता जो मंत्री हैं, उन्हें पद से हटाया जाना चाहिए, क्योंकि उनकी मौजूदगी में निष्पक्ष जांच मुमकिन नहीं है। इसी तरह हमने सुप्रीम कोर्ट के दो सिटिंग जज से भी जांच कराए जाने की मांग की है। प्रियंका गांधी ने कहा कि राष्ट्रपति ने हमें आश्वासन दिया है कि वे खुद आज इस मुद्दे पर सरकार से चर्चा करेंगे।

priyanka gandhi lakimpu

ज्ञात हो कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया क्षेत्र में 3 अक्टूबर को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। चार किसानों को कार से रौंदे जाने से मौत हुई है। इस मामले में अजय मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। आशीष को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। आशीष मिश्रा पर आरोप हैं कि वह उन वाहनों में से एक में सवार थे, जिन्होंने 3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे का विरोध कर रहे चार किसानों को कुचल दिया था। इन आरोपों के बाद प्राथमिकी में आशीष का नाम दर्ज किया गया है।

priyanka gandhi gpo 3

श्रद्धांजलि सभा में शामिल हुए थे कांग्रेस नेता

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत, रालोद अध्यक्ष जयंत चैधरी, विभिन्न राज्यों के किसान और बड़ी संख्या में लोग यहां तिकुनिया में मंगलवार को चार किसानों और एक पत्रकार को श्रद्धांजलि देने के लिए ‘अंतिम अरदास’ में शामिल हुए थे। प्रियंका गांधी ने पत्रकारों से कहा कि आज मैं अंतिम अरदास की सभा में आई हूं, इसलिए कुछ बोलूंगी नहीं, हां यह जरूर है कि अंतिम सांस तक किसानों के लिए न्याय की लड़ाई लड़ूंगी।

lakhimpur

यह भी पढ़ेंः-लखीमपुर कांड का आरोपी अंकित दास पहुंचा क्राइम ब्रांच, नोटिस चस्पा होते ही आया हरकते में