पुलिसकर्मियों की काली करतूतों का हुआ भंडाफोड़, थाने में मिली 70 से ज्यादा शराब की बोतलें

policemen

गुजरात(Gujarat) के अरवल्ली जिले(Aravalli district) में पुलिस को शर्मसार करने वाला केस सामने आया है, जिसके बाद कुछ पुलिसकर्मियों के ही खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। साधारण तौर पर आम जनता या अपराधी अपराध करते है, लेकिन इस बार तो केस ही उल्टा हो गया है, जहां पर पुलिसकर्मी ही अपराध(crime) कर बैठे हैं। अरवल्ली जिले(Aravalli district) के चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ थाने में शराब की बोतलें छुपा कर रखने के कारण केस दर्ज किया गया है। इसमें एक अधिकारी ने बताया है कि गुजरात के अरवल्ली जिले के मोडासा में स्थानीय अपराध शाखा के एक पुलिस निरीक्षक और तीन कांस्टेबल के खिलाफ एक पुलिस थाने के अंदर शराब की 70 से अधिक बोतलें कथित तौर पर छिपाने के लिए शनिवार को एक प्राथमिकी दर्ज की गई।

इसे भी पढ़ें-अब कोर्ट में दिल्ली पुलिस ने कहा, यह महज टूलकिट नहीं था…

पकड़ी गई 120 बोतलें

एसपी संजय खरात ने बातचीत के दौरान बताया कि यह अपराध शुक्रवार को संज्ञान में आया जब एक वाहन, जिसमें दो आरोपी कांस्टेबल शराब की और 120 बोतलें ले जा रहे थे, वो दुर्घटनाग्रस्त हो गया, इसके आगे उन्होंने बताया कि दो कांस्टेबल इमरान शेख और प्रमोद पंड्या को गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने बताया कि दोनों ने शराब की 120 बोतलें उस ट्रक से निकाली थीं, जिसे शराब का परिवहन करने के लिए जब्त किया गया था। उन्होंने कहा, ‘‘आगे की जांच में पता चला कि स्थानीय अपराध शाखा के पुलिस थाने के अंदर भारत निर्मित विदेशी शराब की 70 बोतलें छिपाई गई हैं।’’ संजय खरात ने ये भी बताया कि शराब की यह बोतलें हाल ही में पुलिस द्वारा जब्त किए गए ट्रक से निकाली गई थीं। गुजरात में एक सख्त निषिद्ध कानून है जो राज्य की सीमा के भीतर शराब के निर्माण, बिक्री, खपत और परिवहन पर प्रतिबंध लगाता है।

एसपी ने कहा, ‘‘70 से अधिक शराब की बोतलें एलसीबी कार्यालय में छिपाने के मामले के बाद हमने चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है, जिसमें एलसीबी पुलिस इंस्पेक्टर आर के परमार भी शामिल हैं।’’ इस मामले की जांच अभी चल रही हैं।

इसे भी पढ़ें- वसीम जाफर ने मंगल ग्रह की फोटो शेयर कर बताई पिच की स्थिति

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *