नेपाल के प्रधानमंत्री से पीएम नरेंद्र मोदी ने की द्विपक्षीय वार्ता, इन महत्वपूर्ण मुद्दों को लेकर बात

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री के उपाय के निमंत्रण पर हिमालय देश में स्थित लुंबिनी पहुंचे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां पूजा अर्चना की जिसके बाद नेपाली समकक्ष शेर बहादुर देउबा से मुलाकात की।

0
215
लुंबिनी: भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भगवान गौतम बुद्ध की जयंती पर उनके जन्मस्थान लुंबिनी गए हैं। इस दौरान उन्होंने नेपाल के शेर बहादुर देउबा के साथ वार्तालाप की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान बहुत महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की है। इन दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों ने द्विपक्षीय साझेदारी में क्षेत्र को तलाश में और मजबूत करने को लेकर वार्तालाप की है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री के उपाय के निमंत्रण पर हिमालय देश में स्थित लुंबिनी पहुंचे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां पूजा अर्चना की जिसके बाद नेपाली समकक्ष शेर बहादुर देउबा से मुलाकात की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन महत्वपूर्ण विषयों पर की चर्चा विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरविंद बागची ने बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लुंबिनी में नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के साथ वार्तालाप की है। इस दौरान इन दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच बहुत ही अहम मुद्दों पर चर्चा हुई है। इस दौरान उन्होंने कहा है कि आगामी साझेदारी में जारी सहयोग को मजबूत करेगी। इन दोनों प्रधानमंत्रियों ने पनबिजली और संपर्क जैसे कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की है। इस समय दोनों देश आपसी संबंधों को बढ़ाने में जुटे हैं। नेपाल और भारत के संबंध पहले से अच्छे हैं। इसके साथ इन दोनों देशों के प्रधानमंत्री ने जल विद्युत, विकास और संपर्क सहित कई क्षेत्रों में आपसी सहयोग में सहमत जताई है। प्रधानमंत्री मोदी ने पांचवी बार की नेपाल की यात्रा भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता बन चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भारत ही नहीं बल्कि विश्व के कई देशों के लोग बहुत पसंद करते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल पर यात्रा पर जाने से पहले एक बड़ा बयान दिया था। इस दौरान उन्होंने कहा था कि हमारे नेपाल के साथ संबंध अद्वितीय हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने नेपाल की यात्रा पांचवी वार की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनका दल भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टर से उत्तर प्रदेश से लुंबिनी के लिए उड़ान भरी थी। धानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम 4 बजे नेपाल से लौट आएंगे। Read More-

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भगवान गौतम बुद्ध की जयंती पर उनके जन्मस्थान लुंबिनी गए हैं। इस दौरान उन्होंने नेपाल के शेर बहादुर देउबा के साथ वार्तालाप की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान बहुत महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की है। इन दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों ने द्विपक्षीय साझेदारी में क्षेत्र को तलाश में और मजबूत करने को लेकर वार्तालाप की है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के प्रधानमंत्री के उपाय के निमंत्रण पर हिमालय देश में स्थित लुंबिनी पहुंचे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां पूजा अर्चना की जिसके बाद नेपाली समकक्ष शेर बहादुर देउबा से मुलाकात की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन महत्वपूर्ण विषयों पर की चर्चा

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरविंद बागची ने बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लुंबिनी में नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के साथ वार्तालाप की है। इस दौरान इन दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच बहुत ही अहम मुद्दों पर चर्चा हुई है। इस दौरान उन्होंने कहा है कि आगामी साझेदारी में जारी सहयोग को मजबूत करेगी। इन दोनों प्रधानमंत्रियों ने पनबिजली और संपर्क जैसे कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की है। इस समय दोनों देश आपसी संबंधों को बढ़ाने में जुटे हैं। नेपाल और भारत के संबंध पहले से अच्छे हैं। इसके साथ इन दोनों देशों के प्रधानमंत्री ने जल विद्युत, विकास और संपर्क सहित कई क्षेत्रों में आपसी सहयोग में सहमत जताई है।

प्रधानमंत्री मोदी ने पांचवी बार की नेपाल की यात्रा

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता बन चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भारत ही नहीं बल्कि विश्व के कई देशों के लोग बहुत पसंद करते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल पर यात्रा पर जाने से पहले एक बड़ा बयान दिया था। इस दौरान उन्होंने कहा था कि हमारे नेपाल के साथ संबंध अद्वितीय हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने नेपाल की यात्रा पांचवी वार की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनका दल भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टर से उत्तर प्रदेश से लुंबिनी के लिए उड़ान भरी थी। धानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम 4 बजे नेपाल से लौट आएंगे।

Read More-पंचायत सहायक के 2700 से अधिक पदों पर निकाली गई भर्ती, 12वीं पास उम्मीदवारों की बल्ले बल्ले