रामविलास पासवान के निधन से PM मोदी की बढ़ी मुश्किलें, जाने वजह

177
PM Narendra Modi

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) का हाल ही में निधन हो गया। रामविलास के निधन होने से मोदी सरकार (Modi Govenrment) को बड़ी हानि हुई है। रामविलास पासवान उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय संभालते थें। हालांकि, उनके जाने के बाद ये पद खाली हो गया है, जिसकी जिम्मेदारी अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के सिर पर आ गई है। पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल में उनके मंत्रीमंडल से चार केंद्रीय मंत्री के पद खाली हो चुके हैं जिनकी जिम्मेदारी संभालने का दबाव अब पीएम मोदी पर पड़ रहा है।

यह भी पढ़े- ड्रग्स केस में दीपिका का नाम आने के बाद पहली बार रणवीर ने लिखा ट्वीट, PM मोदी से जुड़ी है बात

मोदी मंत्रीमंडल में चार मंत्री कम
रामविलास पासवान से पहले मोदी मंत्रिमंडल के रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगाड़ी का निधन हो गया था। वहीं, शिवसेना के अरविंद सावंत और अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। मंत्रिमंडल से इन पदों के खाली होने पर मोदी सरकार के लिए परेशानी बढ़ गई है। बता दें कि, मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में मोदी के साथ 57 मंत्रियों ने शपथ ली थी। इनमें 24 कैबिनेट, नौ राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार और 24 राज्य मंत्री शामिल थे। तब से लेकर मंत्रियों में फेरबदल तो नहीं हुआ है लेकिन चार मंत्री कम हो गए हैं।

मोदी पर पड़ा भार
मंत्रिमंडल में कम मंत्रियों के होने की वजह से कुछ मंत्रियों के सिर पर काम बड़ा है। खुद पीएम मोदी कई जिम्मेदारियां संभाल रहे हैं। वहीं, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के पास चार मंत्रालय कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायती राज और उपभोक्ता एवं खाद्य मंत्रालय हैं, जबकि पांच मंत्री रविशंकर प्रसाद, डॉ हर्षवर्धन, पीयूष गोयल, प्रह्लाद जोशी और प्रकाश जावड़ेकर तीन-तीन मंत्रालयों को संभाल रहे हैं। वैसे, सरकार बनने के साल भर में पदों का फेरबदल होता है लेकिन इस बार कोरोना काल की वजह से नहीं हो पाया। कहा जा रहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव के बाद ऐसा संभव हो पाएगा।

यह भी पढ़े- पहली पत्नी से तलाक लेकर बेहद दुखी थें आमिर खान, शादी टूटने की बताई थी ये बड़ी वजह