Categories
देश पंजाब

किसान प्रदर्शनकारियों से पहले रूका पीएम मोदी का काफिला, फिरोजपुर रैली रद

  • गृह मंत्रालय ने सुरक्षा चूक पर पंजाब सरकार से मांगा जवाब
  • फ्लाईओवर पर रूका रहा पीएम मोदी का काफिला, लौटा बठिंडा एयरपोर्ट

फिरोजपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बुधवार को पंजाब के फिरोजपुर में रैली रद हो गयी। रैली रद होने के पीछे सुरक्षा कारण हैं। गृह मंत्रालय की ओर से सुरक्षा में हुई चूक पर बयान जारी किया गया है। पंजाब सरकार से सुरक्षा में हुई चूक पर जवाब भी मांगा गया है। भारतीय जनता पार्टी ने पीएम मोदी की रैली रद होने के बाद सीएम चन्नी का इस्तीफा मांगा है। गृह मंत्रालय की जारी बयान में लिखा है कि पीएम सुबह बठिंडा पहुंचे थे। पीएम को हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था। बारिश और कम दृश्यता की वजह से पहले पीएम को 20 मिनट इंतजार करना पड़ा। आसमान साफ ना होता देख उन्होंने सड़क मार्ग से वहां जाने का फैसला किया। इसमें करीब 2 घंटे लगने थे। इसके बारे में पंजाब पुलिस के डीजीपी को बताकर आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था की रजामंदी ली गई। पंजाब पुलिस की डीजीपी से बात होने केे बाद पीएम मोदी का काफिला निकला।

 pm modi firojpur

फ्लाईओवर पर रोका गया था पीएम मोदी का काफिला

जब पीएम मोदी का काफिला राष्ट्रीय शहीद स्मारक से 30 किलोमीटर दूर था तब रास्ते में एक फ्लाईओवर आया। वहां रास्ते को प्रदर्शनकारियों ने रोका हुआ था। उस फ्लाईओवर पर पीएम मोदी का काफिला 15-20 मिनट फंसा रहा। इसे गृह मंत्रालय ने पीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक माना है। पीएम की सुरक्षा में चूक पर पंजाब सरकार से रिपोर्ट मांगी गयी है।

 pm modi firojpur

पीएम की गाड़ी के आसपास खड़े रहे सुरक्षा गार्ड

गृह मंत्रालय ने कहा कि पीएम के ट्रेवल प्लान के बारे में पंजाब सरकार को पहले से बताया गया था। इसको ध्यान में रखकर उनको सही तैयारी, व्यवस्था और सुरक्षा के इंतजाम करने थे। आकस्मिकता को ध्यान में रखकर भी तैयार रहना था। आकस्मिकता प्लान को ध्यान में रखकर पंजाब सरकार को सड़क मार्ग पर भी अतिरिक्त पुलिस लगानी थी जो कि नहीं किया गया। अतिरिक्त सुरक्षा नहीं होना भी चूक है।

 pm modi firojpur

मौके पर बाद में पंजाब पुलिस भी दिखी

सुरक्षा में हुई इस चूक के बाद काफिले को वापस बठिंडा एयरपोर्ट की तरफ मोड़ लिया गया। गृह मंत्रालय ने बताया कि उन्होंने इस मसले का संज्ञान लिया है और इसे सुरक्षा में गंभीर चूक माना है। सुरक्षा में चूक की विस्तृत रिपोर्ट राज्य सरकार को देनी होगी। राज्य सरकार को यह भी साफ करना होगा कि चूक किसकी वजह से हुई और उसपर सख्त एक्शन लेना होगा।

काफिले से थोड़ी ही दूर थे प्रदर्शनकारी

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पंजाब आकर यहां की जनता को पैकेज (परियोजनाओं का ऐलान) देना चाहते थे। पीएम को ऐसा नहीं करने दिया गया। पीएम को कार्यक्रम स्थल तक नहीं पहुंचने दिया गया। पीएम मोदी को सुरक्षा नहीं दी गई। सीएम चन्नी को इस्तीफा देना चाहिए।

यह भी पढ़ेंःPM मोदी की 9 जनवरी को प्रस्तावित रैली टली, कोरोना और बारिश ने बढ़ाया संकट