pm modi

दिल्ली। आस्था को आतंक कुचला नहीं जा सकता है। आतंक के दम पर साम्राज्य खड़ा करने वालों का अस्तित्व स्थायी नहीं है। यह बातें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को गुजरात के सोमनाथ मंदिर से जुड़े एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आस्था को आतंक से नहीं कुचला जा सकता है। सोमनाथ मंदिर को कई बार तोड़ा गया, इसे निशाना बनाया गया। लेकिन हर बार ये मंदिर खड़ा हो जाता है और दुनिया के लिए ये सबसे बड़ा उदाहरण है। ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस कथन को अफगानिस्तान में जारी हलचल से जोड़कर देखा जा रहा है, जहां सीधा तालिबान को संदेश दिया गया है। पीएम मोदी ने आतंकी षक्तियों को चेतावनी देते हुए कहा कि ‘जो तोड़ने वाली शक्तियां हैं, जो आतंक के बलबूते साम्राज्य खड़ा करने वाली सोच है, वो किसी कालखंड में कुछ समय के लिए भले हावी हो जाएं लेकिन, उसका अस्तित्व कभी स्थायी नहीं होता, वो ज्यादा दिनों तक मानवता को दबाकर नहीं रख सकती।

भारत अभी वेट एंड वॉच के मोड में
ज्ञात हो कि भारत सरकार की ओर से अभी तक अफगानिस्तान में तालिबानी राज आने को लेकर कोई स्थायी बयान नहीं दिया गया है। भारत अभी अफगानिस्तान में जारी हलचल पर नजर बनाए हुए है और उसका पूरा फोकस वहां पर फंसे भारतीयों को सुरक्षित निकालने पर है। भारत तालिबान का सहयोग करने वाले और आतंक का मुकाबला करने वालों को परख रहा है। इससे पहले बीते दिन विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने संयुक्त राष्ट्र से जुड़े एक कार्यक्रम में कहा था कि कुछ देश आतंकवाद के खिलाफ जारी लड़ाई को कमजोर करना चाहते हैं।

ऐसे में दुनिया को आतंकी की ओर ध्यान देने की जरूरत है। विदेश मंत्री ने बिना नाम लिए तालिबान और पाकिस्तान पर वार किया था। ज्ञात हो कि अफगानिस्तान पर तालिबान का राज आने के बाद भारत ने अपने दूतावास से लोगों को निकाल लिया है। अब वहां पर फंसे भारतीयों को निकालने की कोशिश चल रही है। भारत लगातार अमेरिका से संपर्क बनाए हुए है, जिसने अभी काबुल एयरपोर्ट को अपने कंट्रोल में लिया हुआ है। विदेश मंत्री एस. जयशंकर अमेरिकी यात्रा से लौटकर वापस भारत आ रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः-पीएम मोदी ने कहा, ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ में छिपा है देश के बंटवारे का दर्द