Categories
देश

राष्ट्रपति कोविंद से मिले पीएम मोदी, पंजाब में हुई सुरक्षा चूक से कराया अवगत

दिल्ली। पंजाब के फिरोजपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक के मसला गंभीर होता जा रहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सुरक्षा में चूक पर चिंता जताई है। पीएम मोदी गुरूवार को राष्ट्रपति कोविंद से मिलने राष्ट्रपति भवन पहुंचे। इससे पहले उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु ने पीएम मोदी से बात की है। पीएम मोदी और राष्ट्रपति के ट्विटर हैंडल से मुलाकात की जानकारी दी गई। लिखा गया कि पीएम मोदी आज राष्ट्रपति कोविंद से मिलने पहुंचे। उन्होंने पंजाब में हुई घटना की पूरी जानकारी दी। राष्ट्रपति ने पीएम की सुरक्षा में हुई गंभीर चूक पर चिंता जाहिर की। इस मुलाकात के बाद नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट किया है। पीएम मोदी ने लिखा कि राष्ट्रपति जी ने मिलने बुलाया। उनकी चिंता के लिए उनका आभारी हूं। उनकी शुभकामनाओं के लिए आभारी हूं जो हमेशा शक्ति का स्रोत होती हैं।

 PM modi ramnath kovind

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उपराष्ट्रपति के ट्विटर अकाउंट से लिखा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पंजाब यात्रा के दौरान उनकी सुरक्षा में हुई गंभीर चूक हुई है। राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री से बात की। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई इस चूक पर गंभीर चिंता व्यक्त करते हुए उपराष्ट्रपति ने अपेक्षा की है कि सुरक्षा प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के लिए कठोर कदम उठाए जाएं। भविष्य में दोबारा इस प्रकार की चूक न हो।

पंजाब सरकार ने बनाई जांच कमेटी

पीएम की सुरक्षा में हुई चूक के मसले पर पंजाब की चन्नी सरकार और केन्द्र के बीच तकरार बढ़ता ही जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी लगातार हमलावर होती जा रही है। पंजाब की चन्नी सरकार ने इस मसले की चांच के लिए हाई-लेवल कमेटी का गठन भी कर दिया है। यह कमेटी तीन दिनों में अपनी रिपोर्ट तैयार करेगी। कमेटी में रिटायर्ड जस्टिस मेहताब सिंह गिल और प्रमुख सचिव (गृह मामलों और न्याय) अनुराग वर्मा शामिल हैं।

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है मामला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिरोजपुर में हुई सुरक्षा में चूक का मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है। इसे सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना के समक्ष मेंशन किया गया है। चीफ जस्टिस की बेंच शुक्रवार को सुनवाई का फैसला कर सकती है। सीनियर एडवोकेट मनिंदर सिंह ने इस मामले से जुड़ी जनहित याचिका दायर की है। याचिका में कहा गया है कि इस तरह की सुरक्षा में चूक स्वीकार्य नहीं की जा सकती। याचिका में सीनियर एडवोकेट मनिंदर सिंह ने पंजाब सरकार को उचित निर्देश देने, उत्तरदायी लोगों के खिलाफ सख्त एक्शन लेने की मांग की है।

पीएम मोदी की सुरक्षा में हुई थी चूक

ज्ञात हो कि पीएम मोदी बुधवार को पंजाब दौरे पर गए थे। बठिंडा में मौसम खराब होने के कारण उन्हें सड़क के रास्ते हुसैनीवाला जाने का निर्णय लेना पड़ा। इस दौरान किसान प्रदर्शनकारी पीएम मोदी के काफिले के रास्ते मंे आ गये। इसके बाद पीएम मोदी का काफिला यहां 15-20 मिनट रुका रहा। इसे लेकर गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार से रिपोर्ट मांगी है। बीजेपी का आरोप है कि पंजाब पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को पीएम के रास्ते की जानकारी दी। कांग्रेस का कहना है कि पीएम मोदी की रैली में भीड़ नहीं थी, ऐसे में उन्होंने जानबूझकर अपना दौरा रद किया।

यह भी पढ़ेंः-अपने सीएम को थैंक्स कहना, मैं एयरपोर्ट जिंदा लौट पाया : पीएम मोदी