राजकोट में PM मोदी ने किया मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल का उद्घाटन, अमित शाह भी रहे मौजूद

गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया. केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह भी इस दौरान गुजरात में ही हैं. वो जामनगर में कार्यक्रम में शामिल होने वाले हैं.

0
169
Gujarat, PM Modi, मातुश्री केडीपी मल्टीस्पेशलिटी, Matushree KDP Multispeciality, Rajkot

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने बीते दिन शनिवार को गुजरात दौरे पर पहुंचे हैं. उन्होंने राजकोट के अटकोट में नवनिर्मित मातुश्री केडीपी मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल का उद्घाटन किया. 40 करोड़ की लागत से ये अस्पताल बना है. गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया. केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह भी इस दौरान गुजरात में ही हैं. वो जामनगर में कार्यक्रम में शामिल होने वाले हैं.

पटेल सेवा समाज की तरफ से इस मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल का निर्माण करवाया गया है. अस्पताल के उद्घाटन के बाद पीएम मोदी ने पाटीदार समाज की जनसभा को भी संबोधित किया. इस मौके पर प्रधानमंत्री के साथ गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल, पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, गुजरात भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटिल, केंद्रीय मंत्री पुरसोत्तमभाई रूपला भी वहां मौजूद रहे.

अस्पताल के प्रबंधक न्यासी डॉ भरत बोघारा ने इस दौरान कहा कि 200 बिस्तरों वाला केडी परवाडिया मल्टीस्पेशिलिटी अस्पताल राजकोट-भावनगर राजमार्ग पर बना है और ये अस्पताल 40 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है. बोघारा ने इस बारे में कहा कि अस्पताल से राजकोट, बोटाद, अमरेली और आसपास के बाकी के जिलों के ग्रामीण इलाकों के लोगों को लाभ होगा.

इस अस्पताल में आयुष्मान भारत और राज्य सरकार के द्वारा जारी हेल्थ कार्ड धारकों का फ्री में इलाज होगा. डॉ भरत बोघारा ने कहा कि केडी परवाडिया मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल्स का शुल्क शहरों में वसूले जा रहे शुल्क का केवल 30 प्रतिशत होगा. सौराष्ट्र की राजनीति के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह दौरा खास बताया जा रहा है. इसी साल के अंत में गुजरात में विधानसभा चुनाव होने हैं.

बीते दिन चुनाव में पाटीदारों के गुस्से की वजह भाजपा 100 का आंकड़ा पार नहीं कर पाई थी. इसका सबसे अधिक असर सौराष्ट्र क्षेत्र में ही देखने मिला था. जहां की 56 सीटों में 32 सीटें कांग्रेस को मिल गईं थीं, तो
वहीं भाजपा के खाते में केवल 22 सीटें मिली थीं. ऐसा बताया जा रहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा पाटीदारों को साधने में लगी है.

इसे भी पढ़ें-Restrictions on Sugar Exports: सरकार ने लिया बड़ा फैसला, चीनी खरीदारों को मिलेगी भारी राहत!