पीएम मोदी के पावर प्रोजेक्ट से घबरा गया चीन, अब इस सड़क से ड्रैगन पर रहेगी पूरी नजर

182

देश की मोदी सरकार लद्दाख सीमा पर पिछले तीन महीने से चल रहे विवाद के बीच अब दुश्मन देश को बड़ा झटका देने की तैयारी कर रही है। दरअसल भारतीय सेना लद्दाख में एक ऐसे प्लान को अंजाम दे रही है, जो ड्रैगन की नजर में आए बिना ही अपनी गतिविधियों को अंजाम दे सकेगी। इसके लिए भारत सरकार मनाली से लेह तक एक नई सड़क बनाने की योजना पर काम कर रही है। बताया जा रहा है कि इस सड़क निर्माण का कार्य कई दिनों से चल रहा है। इससे पहले पीएम मोदी जब लद्दाख दौरे पर पहुंचे थे, उन्होंने इस प्रोजेक्ट को मंजूरी दी थी। सूत्रों के अनुसार भारत पिछले तीन साल से दौलत बेग ओल्डी समेत रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण उत्तरी सब-सेक्टरों को वैकल्पिक कनेक्टिविटी उपलब्ध कराने पर काम कर रहा है। इसके साथ ही यह नई सड़क मनाली और लेह को निमू के पास के इलाकों को जोड़ेगी। बता दें कि इस सड़क को ऊंचाई वाले क्षेत्र पर बनाया जा रहा है, जो पहाड़ी केंद्र शासित प्रदेश और बाकी देश से लिंक होगी।

ये भी पढ़ें:-भारत की इस सड़क से शुरू हुई LAC पर जंग, चीन की राजधानी बीजिंग तक लगा था करंट!

न्यूज एजेंसी (ANI) को सरकारी सूत्रों ने बताया, अगर यह सड़क बन जाती है तो मनाली से लेह पहुंचने वाले समय में तीन से चार घंटे की कटौती आएगी। जिसका इस्तेमाल सैनिकों और भारी हथियारों की तैनाती के समय में किया जा सकता है।

इसके साथ ही इस सड़क से पाकिस्तानी और अन्य दुश्मनों की गतिविधियों पर भारतीय सेना हर गतिविधियों पर नजर रख पाने में कामयाब रहेगी। दुश्मन देश यहां पहुंचने की सोच भी नहीं सकता। चूंकि जगह-जगह पर सेना के जवान गश्त पर रहेंगे।

सूत्रों ने बताया कि साल 1999 में हुए करगिल युद्ध में पाकिस्तानी सेना ने इस मार्ग को विशेष तौर पर निशाना बनाया था। अभी तक वस्तुओं और लोगों के लेह जाने के लिए जिस मार्ग का प्रमुख रूप से इस्तेमाल होता है वह जोजिला से जाता है।

यह मार्ग द्रास-करगिल एक्सिस होते हुए लेह तक पहुंचाता है। इसलिए भारत सरकार सतर्कता बरतते हुए मनाली से लेह तक इस नई सड़क योजना को तवज्जो दे रही है।

ये भी पढ़ें:-चीन की तो खैर नहीं, अमेरिका के इस कदम से खौफ में ड्रैगन, लद्दाख सीमा पर तैनात ये घातक विमान