Homeदेशसिर पर पल्लू और मांग में सिंदूर...सांसद नुसरत जहां ने ऐसे खींचा...

सिर पर पल्लू और मांग में सिंदूर…सांसद नुसरत जहां ने ऐसे खींचा भगवान जगन्नाथ का रथ

- Advertisement -

अभिनेत्री और सांसद नुसरत जहां आज कोलकाता में भगवान जगन्नाथ यात्रा में अपने परिवार के साथ पहुंची। हिंदू से शादी करने के बाद से नुसरत जहां मौलवियों के निशाने पर आ गई है। धर्म के ठेकेदारों ने नुसरत जहां को हिंदू से शादी करने पर फतवा जारी कर दिया था। लेकिन नुसरत ने धर्म के ठेकेदारों को मुंह तोड़ जवाब दिया था। वही कोलकाता में भगवान जगन्नाथ यात्रा में अपने परिवार के साथ पहुंची नुसरत जहां सिर पर पल्लू लिए मांग में सिंदूर लिए भगवान जगन्नाथ की यात्रा का भाग बनी और पूजा अर्चना की। रथ यात्रा में दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी मौजूद रहीं। नुसरत ने ममता के साथ भगवान का रथ भी खींचा। बता दें कि नुसरत जहां पश्चिम बंगाल की बसीरहाट लोकसभा सीट से तृणमूल कांग्रेस की सांसद हैं। इस रथ यात्रा में नुसरत के पति निखिल जैन भी शामिल हुए। नुसरत पैरेट ग्रीन कलर की साड़ी पहने नजर आईं। सिर पर पल्लू, मांग में सिंदूर, गले में मंगलसूत्र और हाथ में लाल चूड़ा पहने नुसरत बेहद खूबसूरत लग रही थीं।

हाल ही में नुसरत जहां को धर्म के ठेकेदारों ने सवाल खड़े किए थे लेकिन लोकसभा चुनाव में जीत के बाद तृणमूल कांग्रेस की दो प्रत्याशी संसद पहुंची थी। इसमें एक है नुसरत जहां। जो अपनी शादी के बाद पहली बार संसद आई थी। नुसरत जहां ने 19 जून को निखिल जैन से शादी की है। 20 जून को नुसरत ने अपनी शादी के फोटो भी शेयर की। जिसमें वह हिंदू रिति रिवाज से शादी करती हुई नजर आई। जिसके चलते नुसरत संसद में भी अपने पहले दिन पर बिल्कुल ही पारंपरिक अंदाज में नजर आई। इस दौरान नुसरत संसद में सिंदूर, हाथों में मेहंदी और लाल चूड़ा पहने नजर आई। और इसी तरह नुसरत ने संसद में अपनी गोपनियता की शपथ भी ली। इस दौरान उन्होंने शपथ के बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के पैर भी छूए। जिससे उन्होंने सभी का दिल भी जीत लिया। इस दौरान नुसरत ही हर जगह तारीफ हुई। लेकिन हिन्दू रिति रिवाज और पेशभूषा पर अब नुसरत पर सवाल उठने लगे है। इतना ही नहीं, देवबंद के धर्मगुरूओं ने नुसरत के खिलाफ फतवा तक जारी किया है। जिनको अब जवाब देने खुद नुसरत को सामने आना पड़ा है।

अपने धर्म पर खड़े सवालों का जवाब देते हुए नुसरत ने कहा कि ‘मैं सम्मिलित भारत का प्रतिनिधित्व करती हूं। जो कि जाति और धर्म के सारे बंधनों से कहीं आगे है। जितना हो सकता है मैं सभी धर्मों का सम्मान करती हूं। मैं मुस्लिम ही रहूंगी और मुझे क्या पहनना है मैं उस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहूंगी। विश्वास कपड़ों से कहीं बढ़कर है। हर धर्म की अमूल्य शिक्षाओं को मानने में कोई हर्ज़ नहीं है नुसरत’। इस ट्वीट के साथ नुसरत ने लिखा- किसी भी धर्म के कट्टर लोगों द्वारा की गई टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया देना केवल घृणा और हिंसा को जन्म देता है, और इतिहास इस बात की गवाही देता है। हालांकि इस दौरान नुसरत के दोस्त और सासद मिमि चक्रवर्ती ने भी उनका साथ दिया। मिमि चक्रवर्ती ने नुसरत के ट्वीट को रिट्वीट कर लिखा कि हम भारतीय हैं और सिर्फ यही हमारी पहचान है। भारतीय होने पर गर्व है और रहेगा।

बता दें कि देवबंद के धर्मगुरूओ ने ये कहकर नुसरत जहां के खिलाफ फतवा जारी कर दिया था कि मुस्लिम लड़कियों को सिर्फ मुस्लिम लड़कों से ही निकाह करना चाहिए। देवबंद के धर्मगुरुओं के इस बयान का बीजेपी की फायर ब्रांड नेता साक्षी महाराज ने भी जमकर विरोध किया। साक्षी महाराज ने कहा कि, ”अगर कोई मुस्लिम महिला हिंदू से शादी करके बिंदी लगाती है, मंगलसूत्र और बिछुए पहनती है तो मुस्लिम धर्मगुरु उसे हराम बताते हैं। मुझे उनकी बुद्धि पर तरस आता है लेकिन कई मुस्लिम पुरुष हिंदू बेटियों को लव जिहाद के नाम पर फंसाते हैं और उन्हें बुर्का पहनने को कहते हैं, तब वह हराम नहीं होता।”

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here