भारत के निशाने पर आया पाकिस्तान का लड़ाकू विमान का पूरा जखीरा, 1 झटके में हो सकता है खत्म

1232
modiii

29 जुलाई को भारतीय वायुसेना में पांच लड़ाकू विमान राफेल शामिल हो गए है। जिसके बाद भारतीय वायुसेना की ताकत कई गुना बढ़ गई है। राफेल के आने के बाद भारतीय वायुसेना का जोश भी कई गुना बढ़ गया है। तो वहीं दूसरी तरफ भारत में राफेल के आने से पाकिस्तान पूरी तरह बौखला गया है। भारत में राफेल को देखकर पाकिस्तान लगातार बयानबाजी कर रहा है क्योंकि पाकिस्तान जानता है कि राफेल की वजह से उसकी पूरी वायुसेना और लड़ाकू विमानों का जखीरा खतरे में आ गया है। जिसके संकेत खुद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने दिए है।

पाक मंत्री का बयान
दरअसल हाल ही में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बयान दिया था। जिसमे पाकिस्तान के मंत्री ने कहा था कि भारत अपने परमाणु हथियारों की संख्या और गुणवत्ता दोनों को ही बढ़ा रहा है। राफेल के आने के बाद अब भारत दूसरा सबसे बड़ा हथियारों को आयात करने वाला देश बन गया है। पाकिस्तान के इस बयान से साफ है कि इमरान सरकार भारत की इस महाशक्ति को देखकर बौखला गई है इसी वजह से आज इमरान खान की सरकार दुनिया के सामने भारत की शक्ति को रोकने की गुहार लगा रही है। इतना ही नहीं, पाकिस्तान को अब पता चल गया है कि अगर उसका भारत से आमना-सामना होता है तो वह कभी भारी नहीं पड़ सकता। जैसे पिछले साल हुई झड़प में पड़ा था।

ये भी पढ़ें:-लद्दाख सीमा के पास चीन ने तैनात किए अपने बॉम्बर एयरक्राफ्ट, भारत के राफेल से नहीं खतरनाक!

साल 2019 में हुआ आमना-सामना
पिछले साल के फरवरी महीने में ही भारत और पाकिस्तान की वायुसेना आमने-सामने हुई थी। उस दौरान पाकिस्तान ने मैदान में अमेरिकी एफ-16 जेट की AIM-120 AMRAAM (एडवांस मीडियम रेंज एयर टु एयर मिसाइल) उतारी थी। जो भारत के मिग-21 विमान पर भारी साबित हुई थी और भारत के विमान को मार गिराया था। हालांकि भारत ने भी पाकिस्तान के विमान को मार गिराया था लेकिन पाकिस्तान के इस वार से भारतीय वायुसेना चिंता में आ गई थी क्योंकि उस समय पाकिस्तान वायु सेना के लड़ाकू विमान ने लंबी दूरी से भारत को टारगेट किया था और भारत को कोई मौका नहीं दिया। इस दौरान भारत के अग्रणी सुखोई एमकेआई को निशाना बनाया गया था लेकिन वह AMRAAM (एडवांस मीडियम रेंज एयर टु एयर मिसाइल) से बचकर निकल गया। वहीं, इस बीच खतरे की बात ये थी कि सुखोई से वायुसेना पलटवार नहीं कर पाई।

राफेल में पाक जखीरे को तबाह करने की शक्ति
पाकिस्तान एफ-16 का AMRAAM (एडवांस मीडियम रेंज एयर टु एयर मिसाइल) भारत के सामने कई बार चुनौती बनकर सामने खड़ा हुआ है क्योंकि पाकिस्तान इसे समय-समय पर और ज्यादा घातक बनाने में लगा था। पाकिस्तान के पास पहले मिसाइल का AIM-120A/B मॉडल था जिससे 75 किमी तक वार किया जा सकता था लेकिन इसके बाद पाकिस्तान ने 100 किमी रेज तक वार करने वाली AIM-120C-5 मिसाइल को खरीदा। जिसकी वजह से पाकिस्तानी लड़ाकू विमान भारत पर आसानी से हमला करने में कामयाब हुए थे लेकिन राफेल के आने के बाद पाकिस्तान का कोई भी लड़ाकू विमान ऐसा नहीं कर पाएगा। इसी वजह से पाकिस्तान भारत से डर रहा है। राफेल और इसमें लगी घातक BVRAAM (बियॉन्ड विजुअल रेंज एयर टु एयर मिसाइल) मीटिअर पाकिस्तान के वायुसेना के जखीरे को तबाह करने की ताकत रखती है।

राफेल ने पलटा पूरा गेम
राफेल के आते ही भारत और पाकिस्तान के बीच ताकत का गेम पूरा पलट गया। आज तक पाकिस्तान वायुसेना AMRAAM की वजह से भारत को आंख दिखाती थी लेकिन अब राफेल के बाद पाकिस्तान की नींदे उड़ गई है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तान राफेल को देख कर काफी डर गया है। राफेल में लगी मीटिआर मिसाइल काफी ताकतवर है। AMRAAM को मीटिअर मिसाइल खत्म करने में पूरी तरह सक्षम है। इतना ही नहीं, पाकिस्तान के एफ-16 विमान के लिए सीधा खतरा पैदा हो गया है। राफेल को भारतीय वायुसेना के 17 स्क्वाड्रन का हिस्सा बनाया गया है। जिन्हें गोल्डन एरोज के नाम से जाना जाएगा।

ये भी पढ़ें:-राफेल के बाद भारतीय नौसेना को मिलेगा ये घातक हेलिकॉप्टर, ‘शक्तियां’ देख चीन-पाक के छूटे पसीने