Pakistani terrorist

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली से पकड़े गए पाकिस्तानी आतंकी (Pakistani Terrorist) ने कई खुलासे किये हैं। आतंकी अशरफ उर्फ अली ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) के सामने कई बड़ी बातें बताई है। उसने पुलिस को बताया उसी ने आईएसआई (ISI) के अधिकारियों को दिल्ली और जम्मू-कश्मीर के साथ ही भारत के कई राज्यों की जानकारियां दी थी।

थाईलैंड और दुबई गया था अशरफ

दिल्ली पुलिस की पूछताछ में अशरफ उर्फ अली ने खुलासा किया है कि वह भारतीय पासपोर्ट के सहारे साल 2018 में थाईलैंड और दुबई गया था, जहां पर उसकी मुलाकात आईएसआई (ISI) के वरिष्ठ अधिकारीयों से हुई थी। इसके बाद उसने आईएसआई अफसर को दिल्ली और जम्मू-कश्मीर के साथ ही भारत के कई राज्यों की जानकारियां शेयर की थी। साथ ही आतंकी कई महत्वपूर्ण जगहों के तस्वीर और वीडियो के साथ इलाकों के नक्शे भी लेकर गया था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) उसके इनपुट पर तहकीकात कर रही है।

अधिकारियों ने 6 घंटे तक की पूछताछ

सूत्रों के अनुसार स्पेशल सेल सहित आईबी, मिलिट्री इंटेलिजेंस, जम्मू-कश्मीर पुलिस और एनआईए के अधिकारियों ने 6 घंटे से अधिक अशरफ उर्फ अली से पूछताछ की जा रही है, जिसमें आतंकी ने कई धमाकों का खुलासा किया है। जम्मू के ज्यादातर धमाकों में इसकी भूमिका रही है और जांच एजेंसियों को आशंका है कि इसकी अरेस्ट के बाद इसके साथी अंडरग्राउंड हो गए हैं जिससे पुलिस उन तक नहीं पहुंच सके।

10 साल से भारत में था आतंकी

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद ने प्रेस वार्ता कर मोहम्मद अशरफ को लेकर पूरी डिटेल दी थी। उन्होंने अशरफ को लेकर बड़ी जानकारियां शेयर करते हुए बताया था कि वो पिछले 10 से भी अधिक वर्षों से भारत में रहकर आतंकियों की स्लिपर सेल की तरह काम कर रहा था। उन्होंने आगे बताया, ‘अशरफ एक दशक से भी अधिक समय से दिल्ली में रह रहा था। वो यहां एक भारतीय नागरिक के रूप में रह रहा था। उसने अहमद नूरी के फर्जी नाम से कई पहचान पत्र बना लिए हैं।’ पुलिस पूछताछ में आतंकी ने कबूल किया है कि वो अतीत में जम्मू-कश्मीर और देश के अन्य इलाकों में कई आतंकी घटनाओं में संलिप्त रहा है।

इसे भी पढ़ें:- मारे गये कार्यकर्ताओं को BJP देगी शहीद का दर्जा, मुलाकात पर कानून मंत्री ने कही ये बात