liquir

नई दिल्ली। कोरोना काल के दौरान शराब की दुकानों पर हो रही भीड़ को देखते हुये दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने अब राजधानी में शराब की होम डिलीवरी (Home Delivery) शुरू करने की इजाजत दे दी है। अब दिल्ली में शराब की मोबाइल ऐप या ऑनलाइन वेब पोर्टल के माध्यम से होम डिलीवरी की जाएगी। इससे पहले यह सुविधा केवल छत्तीसगढ़ में थी। राष्ट्रीय राजधानी में शराब की होम डिलीवरी को लेकर सरकार का तर्क है कि इस फैसले से शराब की दुकानों पर भीड़ नहीं इकट्ठा होगी और कोरोना को फैलने से रोकने में मदद मिलेगी।

इसे भी पढ़ें:-दिल्ली के रेड जोन जिले में भी मिलेगी राहत, शराब की दुकानों समेत खुल सकेंगे ये सेक्टर  

गौरतलब है कि कोरोना काल के दौरान मिली छूट के बाद शराब की दुकानों पर जबर्दस्त भीड़ उमड़ने लगी थी जिससे महामारी का खतरा और भी अधिक बढ़ने की आशंका थी। इसी के मद्देनजर सरकार ने दिल्ली में शराब की होम डिलीवरी की इजाजत दे दी है। केजरीवाल सरकार द्वारा दी गयी इस सुविधा के तहत दिल्ली आबकारी (संशोधन) नियम 2021 के मुताबिक, एल-13 लाइसेंस धारकों को अब दिल्लीवासियों के घर तक शराब पहुंचाने की छूट होगी। सरकार द्वारा जारी अधिसूचना में कहा गया है कि- ‘लाइसेंसधारक केवल मोबाइल ऐप या ऑनलाइन वेब पोर्टल के माध्यम से ऑर्डर मिलने पर ही घरों में शराब की डिलीवरी करेगा और किसी भी छात्रावास, कार्यालय और संस्थान को कोई डिलीवरी नहीं की जाएगी।’

पहले ई-मेल या फैक्स से शराब घर पहुंचाने की थी इजाज

मालूम हो कि इसके पहले राष्ट्रीय राजधानी ने शराब की होम डिलीवरी की अनुमति नहीं थी लेकिन लाइसेंसधारक ई-मेल या फैक्स से ऑर्डर मिलने पर ग्राहक के घर शराब पहुंचा सकते थे। अब यह सुविधा मोबाइल ऐप या ऑनलाइन पोर्टल पर भी शुरू कर दी गयी है। दिल्ली सरकार ने यह इजाजत शराब के सभी दुकानदारों को नहीं दी है बल्कि कुछ शराब की दुकानों को होम डिलीवरी करने के लिए अधिकृत किया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट भी कर चुका है टिप्पणी 

बता दें कि पिछले साल जब अनलॉक के दौरान शराब की दुकानें खुलनी शुरू हुई थी तब दुकानों पर काफी भीड़ उमड़ने लगी थी जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा था कि राज्यों को शराब की होम डिलीवरी पर विचार करना चाहिए। इसके बाद कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भी दिल्ली में फिर से शराब की दुकानें बंद कर दी गई थी लेकिन अब कोरोना के कम होते मामलों को देखते हुए दिल्ली में फिर से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई है। हालांकि अभी शराब की दुकानों को खोलने पर फैसला नहीं लिया गया है। इसके पहले ही सरकार ने शराब की दुकानों के बंद होने से राजस्व को हो रहे नुकसान की भरपाई करने के मकसद से होम डिलीवरी की इजाजत दे दी है।

इसे भी पढ़ें:-इन शर्तों के साथ UP में खुलेंगी शराब की दुकानें, योगी सरकार ने जारी की गाइडलाइन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here