राफेल शस्त्र की पूजा पर अमित शाह ने कहा, विजयदशमी के दिन दुश्मन पर विजय

0
163
Loading...

चुनाव आते ही राजनीतिक पार्टीयां अपना गुणगान गाना शुरू कर देती है.कोई अपने काम का बखान करता है तो कोई दूसरे पर आरोप लगाता है.लेकिन, ये सत्य है कि चुनाव आते ही पार्टियां आरोप और प्रत्यारोप का शिलशिला शुरू कर देती हैं, इसका भुक्तभोगी होता है आम इंसान. लेकिन, हरियाणा और महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव चरम पर है. इसे लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों के नेता चुनाव प्रचार में जुट गए हैं. और गृहमंत्री अमित शाह  ने हरियाणा के भिवानी में जनसभा को संबोधित किया है. और उन्होंने हरियाणा में जातियों को लेकर खूब टिप्पणी की. कहा, विशेष जातियों के लिए सरकारें बनती है.एक सरकार आती थी तो वो एक जाति का काम करती थी और दूसरी आती थी वो दूसरी जाति का काम करती थी. लेकिन,मनोहर लाल खट्टर का बखान करतें हुए कहा कि यें सरकार ऐसी बनी जिसकी कोई जाति नहीं है, और  ये सरकार हर हरियाणा वासियों की सरकार है,

वही गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए खूब टिप्पणी की और उन्होंने कांग्रेस को लोकतंत्र को झकझोर कर इसमें दीमक लगाने का काम करने वाला बताया.उन्होने इतना ही नही कहा, कांग्रेस परिवारवाद की पार्टी है जो बड़ा नेता है, केवल उसी के परिवारजनों को मुख्यमंत्री, सांसद और विधायक बनने का अधिकार मिलता है.?  उन्होने आगे कहा कि  कांग्रेस में गांधी परिवार के अलावा कोई और अध्यक्ष बन सकता है क्या?.अमित शाह लगातार कांग्रेस पर वार करते रहे लेकिन जब उन्होंने राफेल का जिक्र किया तो पूरा मैदान तालियों से गूंज उठा उन्होने कहा खड़गे साहब कहतें है कि राफेल शस्त्र की पूजा का तमाशा करने की क्या जरूरत थी.. आप बताओ विजयादशमी के दिन दुश्मन पर विजय प्राप्त करने के लिए शस्त्र पूजा करनी चाहिए या नहीं?.

उन्होने कहा इसमें इनका दोष नहीं है इनको विदेश की संस्कृति ज्यादा पसंद है, भारत की संस्कृति की नहीं.अमित शाह ने अपने संबोधन में धारा 370 का भी जिक्र किया और लोगों को उसके विषय में बताया.गृह मंत्री लगातार विपक्ष पर हमला करते रहें लोगो से हामी भरवातें रहे लेकिन देश में बढ़ती  बेरोजगारी और मंहगाई पर एक शब्द नही बोले क्या एक नेता के लिए ये सही है..? read also:- भारत चीन के बॉर्डर पर तैनात करेगा घातक फाइटर जेट राफेल, जानिए क्या है वजह 

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here