Love jihad

अहमदाबाद। लव जिहाद के नाम पर धर्मान्तरण का मुद्दा बढ़ता ही जा रहा है। धर्मान्तरण रोकने के लिए लव जिहाद पर तेजी से शिकंजा राज्य सरकारें कस रही हंै। भाजपा शासित उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के साथ ही अब गुजरात भी लव जिहाद के खिलाफ सख्त कानून लागू कर दिया है। गुजरात में लव जिहाद कानून को राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने मंजूरी दे दी है। राज्यपाल की मंजूरी के बाद अब यह कानून बन चुका है। गुजरात के सीएम रुपाणी ने गुजरात में लव जिहाद कानून 15 जून से लागू करने का फैसला किया है। उन्होंने इस कानून के बारे में कहा कि इस कानून को राज्य में लागू किया जा रहा है ताकि कोई भी लालच, जबरदस्ती या किसी भी तरह की हिंसा कर किसी का धर्म परिवर्तित न करवा सके। ज्ञात हो कि बीते दिनों गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने लव जिहाद कानून को मंजूरी की मुहर लगा दी थी। राज्यपाल के अनुमोदन के बाद गुजरात में लव जिहाद को लेकर प्रभावी कानून बन गया था। इस कानून के तहत धोखाधड़ी से शादी करके जबरन धर्म परिवर्तन कराने के मामले में 10 साल की सजा का प्रावधान रखा गया है।

इस कानून को लक्ष्य धर्म परिवर्तन को रोकना और समाज को शोषण से बचाना है। गत दिनों गुजरात विधानसभा में लव जिहाद विधेयक भारी हंगामे के बीच पास हुआ था। गुजरात के गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने बिल के सिलसिले में जानकारी देते हुए बताया था कि जो लोग तिलक लगाकर हाथ में धागा बांधकर हिंदू या अन्य धर्म की लड़की के साथ छल कपट करते हैं उनको नहीं बख्शा जाएगा। उन्होंने कहा कि अब लड़कियों के साथ छल-कपट नहीं होगा। छल-कपट से शादी करने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी।

इस विधेयक के मुताबिक धर्म छुपाकर शादी करने वालों के खिलाफ 5 साल की सजा और 2 लाख जुर्माने का प्रावधान है। नाबालिग से शादी करने पर सात साल की सजा तीन लाख का जुर्माना निर्धारित किया गया है। कानून की अवलेहना करने वालों को 3 लाख रुपये का जुर्माना और 7 साल की जेल का प्रावधान है।

ये भी पढ़ेंः-लव जिहाद के नाम पर नसीरुद्दीन शाह ने जताया दुख, कहा ये है राजनीति की देन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here