heart failure coronavirus

दिल्ली। कोरोना वायरस (corona virus) लगातार अपना रूप बदलकर और खतरनाक होता जा रहा है। कोरोना के के नए वेरिएंट सामने आने लोगों के संकट पैदा हो गया है। अब कोरोना का एक और खतरनाक वेरिएंट भारत में मिला है। यह इतना खतरनाक है कि इससे संक्रमित होने के सात दिनों के अंदर ही मरीज का वजन बहुत कम हो सकता है। पहले यह वेरिएंट ब्राजील में मिला था। अब वहां से इसके एक ही वेरिएंट के भारत आने की पुष्टि की गई थी। वैज्ञानिकों का कहना है कि ब्राजील से कोरोना वायरस के दो वेरिएंट भारत आए हैं जो बहुत ही खतरनाक हैं। दूसरे वेरिएंट का नाम बी.1.1.28.2 है। वैज्ञानिकों ने इस वेरिएंट का परीक्षण एक चूहे पर किया है। इस नये वेरिएंट का परिणाम चैंकाने वाले थे। वैज्ञानिकों को पता चला है कि संक्रमित होने के तुरंत बाद ही सात दिन के अंदर ही इसकी पहचान की जा सकती है। यह इतना खतरनाक है कि यह मरीज के शरीर का वजन 7 दिनों के अंदर ही कम कर सकता है।

मरीज का घटते वजन के साथ कमजोर होना स्वाभाविक है। इसके साथ ही डेल्टा वेरिएंट की तरह ही यह भी एंटीबॉडी क्षमता को कम कर सकता है। पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वॉयरोलॉजी के वैज्ञानिकों ने बताया कि बी.1.1.28.2 वेरिएंट विदेश से आए दो लोगों में मिला था। इस वेरिएंट की जीनोम सीक्वेसिंग की गई और फिर परीक्षण किया गया है। फिलहाल अभी भारत में इसके बहुत अधिक मामले नहीं है जबकि डेल्टा वेरिएंट सबसे ज्यादा मिल रहा है। अभी तक डेल्टा वेरिएंट ही घातक बना हुई है।

विदेश से लौटे दो लोगों के सैंपल की सिक्वेसिंग की गई थी। कोरोना से रिकवरी होने तक दोनों लोगों में उसके लक्षण नहीं थे लेकिन इनके सैंपल की सीक्वेसिंग के बाद जब बी.1.1.28.2 वेरिएंट का पता चला तो उसका नौ सीरियाई हैमस्टर चूहे की प्रजाति पर सात दिन के लिए परीक्षण किया गया। इनमें से तीन की मौत शरीर के अंदरूनी भाग में संक्रमण बढ़ने से हुई।

ये भी पढ़ेंःCorona Vaccine की पहली डोज़ लेते ही ये महिला बनीं करोड़पति, जानें कैसे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here