pm_modi

दिल्ली। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के कैबिनेट में प्रदेश के चुनावों को देखते हुए बड़ा फेरबदल करने जा रही है। इसी सप्ताह केंद्रीय मंत्रिमंडल में बदलाव होने की उम्मीद की जा रही है। भाजपा सरकार के दूसरे कार्यकाल में होने जा रहा यह पहला कैबिनेट विस्तार है। राजनीतिक प्रेक्षकों को मानना है कि संख्या के अनुसार यह बड़ा बदलाव है। प्रधानमंत्री मोदी कैबिनेट में करीब 20 नए मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है। वर्तमान कैबिनेट से कुछ लोगों को बाहर का रास्ता भी दिखाया जा सकता है। ऐसे में जहां कैबिनेट में आने वालों के चेहरे खिले हुए हैं वहीं बाहर होने वालों के नाम की तलाश की जा रही है।

बिहार, यूपी में सहयोगियों को मौका
कैबिनेट विस्तार में मुख्य रूप से पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश पर है। इन तीनों प्रदेश के नेताओं को मंत्री पद मिल सकता है। बिहार में जनता दल (यूनाइटेड) और लोक जनशक्ति पार्टी के पशुपति पारस गुट को केंद्रीय कैबिनेट में जगह मिल सकती है। लोक जनशक्ति पार्टी के पशुपति पारस गुट को जगह मिलने के साथ ही बिहार की राजनीति में एक नया समीकरण भी बन जाएगा। अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं। उत्तर प्रदेश को भी मंत्रिमंडल में अच्छी जगह दी जा सकती है। उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी अपना दल और निषाद पार्टी को केंद्रीय कैबिनेट में जगह मिल सकती है। इन दलों के नेताओं ने भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व से मुलाकात भी की थी।

इन नेताओं पर है नजर
कांग्रेस छोड़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को मोदी कैबिनेट में जगह मिलेगी। मंगलवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया को नई दिल्ली बुलाया गया है, वह अपना दौरा बीच में छोड़कर ही दिल्ली पहुंच रहे हैं। महाराष्ट्र में पार्टी के वरिष्ठ नेता नारायण राणे को भी नई दिल्ली बुलाया गया है। नारायण राणे के पास पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा के दफ्तर से फोन गया है।

जेपी नड्डा ने दिये जल्द विस्तार के संकेत
भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा मंगलवार को ही नई दिल्ली लौट रहे हैं। जेपी नड्डा पिछले कुछ दिनों से हिमाचल प्रदेश में थे। ऐसे में माना जा रहा है कि इसी हफ्ते कैबिनेट में बड़ा बदलाव हो सकता है। ज्ञात हो कि पिछले कुछ दिनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों के साथ मंथन किया था। बैठक के दौरान सभी मंत्रालयों के कामकाज को देखा गया है। इसी के साथ पीएम मोदी ने बीजेपी संगठन के नेताओं के साथ भी चर्चा की थी।

यह भी पढ़ेंः-महाराष्ट्र की सियासत : शिवसेना-BJP की दोस्ती पर संजय राउत ने दिया आमिर खान और किरण राव का उदाहरण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here