bill gaets

न्यूयॉक। कोरोना के कोहराम पर एक बड़ी अड़चन आ सकती है। भारत समेत दुनियाभर के कई देशों में कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है। कोरोना से बचाव के लिए तेजी से वैक्सीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। इस बीच माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स ने कहा है कि कोरोना वैक्सीन का फॉर्मूला विकासशील देशों को नहीं दिया जाना चाहिए। इससे वैक्सीन पर काम कर देशों को झटका लगा है। बिल गेट्स ने स्काई न्यूज को दिए इंटरव्यू में कहा कि कोविड वैक्सीन का फॉर्मूला विकासशील देशों को नहीं दिया जाना चाहिए। बिल गेट्स के इस बयान के बाद विकासशील और गरीब देशों को कुछ समय इंतजार करना पड़ सकता है। विकासशील देशों को उन्हें वैक्सीन का फॉर्मूला नहीं मिलना चाहिए। एक साक्षात्कार के दौरान जब बिल गेट्स से पूछा गया कि क्या कोरोना की तुरंत और प्रभावपूर्ण तरीके से रोकथाम करने के लिए विकासशील और गरीब देशों को वैक्सीन का फॉर्मूला दिए जाना चाहिए? इस पर उन्होंने कहा कि नहीं।

यह भी पढ़ेंः-बिल गेट्स को पीछे छोड़ एलन मस्क बने दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स, जानें कितनी बढ़ी नेटवर्थ

बिल गेट्स ने कहा कि भले ही दुनिया में वैक्सीन बनाने वाली बहुत सी फैक्टरियां हैं और लोग टीके की सुरक्षा को लेकर बहुत ही गंभीर हैं। फिर भी दवा का फार्मूला नहीं दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यूएस की जॉनसन एंड जॉनसन फैक्ट्री और भारत की एक फैक्टरी में अंतर होता है। वैक्सीन को हम अपने पैसे और अपनी विशेषज्ञता से बनाते हैं। इसमें आर्थिक और वैज्ञानिक निवेश होता है।

उन्होंने कहा कि वैक्सीन फॉर्मूला किसी रेसिपी की तरह नहीं है कि इसे किसी के भी साथ शेयर किया जा सके। इसके लिए बहुत अधिक सावधानी रखनी होती है, टेस्टिंग करनी होती है, ट्रायल्स करने होते हैं। वैक्सीन बनने के दौरान की हर चीज बहुत ही सावधानी से देखनी होती है। वैक्सीन बनाने के लिए उस देश के साथ फार्मा कम्पनियां बहुत बड़ा निवेश करती हैं।

यह भी पढ़ेंः-कोरोना वायरस की वैक्सीन पर बिल गेट्स का बड़ा बयान, भारत के लिए कह डाली ये बात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here