अब अमित शाह ने किया बंगाल में 200 सीटों को दावा, ममता को बताया विफल

कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी ने बंगाल चुनाव को लेकर अपनी ताकत झोंक दी है। गृह मंत्री अमित शाह बंगाल के चुनाव की कमान संभाल रखी है। गृह मंत्री दो दिन के दौरे पर पश्चिम बंगाल में हैं। इसी दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने एक साक्षात्कार में कहा है कि ममता बनर्जी परिवर्तन लाने में विफल रही हैं। वह पश्चिम बंगाल की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सकीं। देश की जनता को प्रधानमंत्री मोदी पर पूरा भरोसा है। उन्होंने कहा कि बंगाल में परिवर्तन निश्चित है। देश का विचार बदल चुका है और बंगाल भी परिवर्तन करेगा। बंगाल में राजनीतिक हिंसा करने वाले सुरक्षित नहीं हैं। हिंसा की जांच जिस-जिस पर आएगी, उस पर कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि सुरक्षा और शांति के साथ सोनार बांग्ला का सपना साकार होगा। गृह मंत्री ने कहा कि बंगाल में तुष्टीकरण की राजनीति को ममता बनर्जी ने चरम पर पहुंचा दिया है। इससे लोगोें को भला नहीं होने वाला है। हमारी प्राथमिकता, बंगाल में कानून-व्यवस्था सुधारना है। कम्युनिस्टों की वजह से बंगाल की राजनीति में हिंसा की संस्कृति बढ़ी है। उन्होंने कहा कि हम पश्चिम बंगाल में पूरी सोच के साथ सरकार बनाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सोनार बांग्ला का मतबल हर युवाओं को रोजगार मिलेगा।

यह भी पढ़ेंः-नीतीश की बात छेड़ Amit Shah ने महाराष्ट्र सरकार पर कसा तंज, बिहार में गरमाई सियासत

गृहमंत्री ने पश्चिम बंगाल की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाये। उन्होंने कहा कि बंगाल में ऐसी हिंसा है कि यहां गुंडे भी डरे हुए हैं लेकिन जैसे-जैसे चुनाव आगे बढ़ेगा गुंडों को भी सुरक्षा लेनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि गोली-बंदूक, भाई-भतीजावाद बंगाल की संस्कृति नहीं है। इस दौरान उन्होंने कहा की सीएए देश का कानून है और सभी जगहों पर लागू होगा। कोई आंदोलन देश में परिवर्तन का रास्ता नहीं रोक सकता है। अमित शाह ने कहा कि शरणार्थियों को नागरिकता पर कांग्रेस का वादा हमने पूरा किया है। 70 साल का वादा हमने 1 साल में पूरा किया है। उन्होंने कहा कि बंगाली संस्कृति चुनावी मुद्दा है, क्योंकि यहां की संस्कृति को नुकसान हुआ है। गोली-बंदूक, भाई-भतीजावाद बंगाल की कभी संस्कृति नहीं रही है। ममता बनर्जी बड़ी नेता हैं लेकिन वो पूरी तरह विफल हो चुकी हैं।

गृह मंत्री अमित शाह ने एक बार फिर बंगाल में जीत का दावा करते हुए कहा कि बीजेपी को पश्चिम बंगाल में 200़ सीटें आएंगी। 2019 में 20 सांसदों की जीत के दावे पर भी सबको आशंका थी लेकिन हमारा प्रदर्शन सबने देखा है। पश्चिम बंगाल में अब सिर्फ एंटी-बीजेपी वोट का बंटवारा बाकी है। बंगाल में बीजेपी के पास उसका मतदाता आ चुका है।

यह भी पढ़ेंः-अमित शाह से चार गुना ज्यादा कमाती है पत्नी सोनल, इतनी है संपत्ति, दिलचस्प है प्रेमकहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *