Thursday, January 21, 2021
Home देश नेपाल के PM ने फिर भारत के खिलाफ उगला जहर, कहा- उन्हें...

नेपाल के PM ने फिर भारत के खिलाफ उगला जहर, कहा- उन्हें पद से हटाने की रची जा रही साजिश

नेपाल और भारत के बीच भी सीमा को लेकर विवाद जारी है. जिस तरह से नेपाल ने अपने देश का नया नक्शा जारी कर उसमें भारत के तीन इलाकों को अपना बताया उसके बाद से ही दोनों देशों के बीच कड़वाहट की वजह तेज होती गई है. इसके बाद सिर्फ नक्शा ही नहीं बल्कि नेपाल के प्रधानमंत्री की ओर से भारत के खिलाफ कई बयान भी दिए गए. जिसमें कोरोना जैसी महामारी फैलने का आरोप भी नेपाल ने भारत पर लगाया. इसी बीच एक बार फिर नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली अपने बयानों के चलते चर्चाओं में हैं. उन्होंने फिर से भारत पर कई आरोप मढे हैं.

ये भी पढ़ें:- चीन-नेपाल के बाद अब भूटान ने भी बदले अपने रंग, इस चीज पर रोक लगाकर भारत के लिए बढ़ाई परेशानी!

दरअसल केपी शर्मा ओली ने कहा है कि भारत ने उन्हें उनके पद से हटाने की साजिश रची है. वो भी इसलिए क्योंकि नेपाल की ओर से नया नक्शा जारी किया गया है. जिसमें लिंपियाधुरा, महाकाली और लिपुलेख का नाम शामिल है. इतना ही नहीं प्रधानमंत्री जी को अपने देश के नेताओं पर भी भरोसा नहीं है, जी हां शायद यही वजह है कि उन्होंने ये भी कहा है कि भारत के साथ साजिश में नेपाल के कई नेता भी शामिल हैं. उनका ये भी कहना है कि, “हमने सही नक्शा जारी किया है. वो भी संवैधानिक तरीके से इसे एक नया रूप दिया है. इतना ही नहीं रविवार के बयान में आगे नेपाल के पीएम ने कहा कि, आपने सुना होगा कि प्रधानमंत्री सप्ताह या 15 दिन में बदल रहे हैं. आपने भारत की बौद्धिक बहसों के बारे में सुना होगा. आपने भारतीय मीडिया और बुद्धिजीवियों के बारे में सुना होगा. भारत का मोदीतंत्र कैसे सक्रिय है?’’ भारत का राज्य तंत्र आश्चर्यजनक रूप से सक्रिय है.”

केपी शर्मा यहीं नहीं रूके आगे उन्होंने भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि पिछली दफा जब वो पीएम थे तो उन्होंने चीन के साथ व्यापार और पारगमन से संबंधित समझौतों पर हस्ताक्षर किए थे. जिसके बाद भी उन्हें उनके पद से हटा दिया गया था. ऐसे में अब जब नेपाल अपनी जमीन वापस लेने का प्रयास कर रहा है तो वही प्रक्रिया दोबारा से दोहराई जा रही है, यानी उन्हें पद से हटाने की कोशिश की जा रही है. यहां तक कि, “इस काम में नेपाल के नेता भी उनका साथ दे रहे हैं. एक बहस चल रही है कि ओली को तुरंत हटाया जाना चाहिए. इसका कोई विकल्प नहीं है.’’ इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि नेपाल की ओर से हाल ही में नक्शा प्रकाशित किए जाने के बाद कुछ लोगों ने कहा कि कोई वापसी की बात नहीं थी. “लेकिन हमें हमारी जमीन चाहिए.” हालांकि नेपाल की ओर से दिए गए इस बयान पर अभी तक भारत ने कोई ऑफिशियल प्रतिक्रिया नहीं दी है.

ये भी पढ़ें:- भारत को परेशान करने के लिए चीन ने चली थी ये चाल, नेपाल में महिला राजदूत भेजकर विवादित नक्शा कराया पास

Most Popular