HomeBreaking News150 जवानों व एक कम्पनी पीएसी के साथ जीपीएस निगरानी में है...

150 जवानों व एक कम्पनी पीएसी के साथ जीपीएस निगरानी में है मुख्तार का काफिला, भोर में पहुंचेगा बांदा जेल

- Advertisement -

लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को पंजाब की जेल से बांदा जेल लाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश पुलिस की टीम मुख्तार को ले कर मंगलवार दोपहर 2.07 बजे रवाना हुई। बुधवार तड़के बांदा जेल पहुंच जाने की संभावना है। बसपा विधायक मुख्तार को पंजाब से होते हुए यह काफिला शाम 4 बजे तक हरियाणा के करनाल से आगे बढ़ गया है। काफिले की स्पीड करीब 80 किलोमीटर प्रति घंटा है। शाम तक काफिला कही रूका नहीं है। रोपड़ से बांदा पहुंचने में अनुमानतः 15 घंटे लग सकते हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर रात 3 बजे के करीब हमीरपुर से मुख्तार अंसारी का काफिला गुजरेगौ इटावा, औरैया, जालौन ( जोल्हूपुर मोड़) से हमीरपुर जिले की सीमा में प्रवेश करेगा। हमीरपुर से सुमेरपुर होते हुए मुख्तार का काफिला बांदा जेल पहुंचेगा। पंजाब गई पुलिस की सभी गाड़ियों में जीपीएस लगा हुआ है। बांदा मंडल मुख्यालय में कमिश्नर और आईजी जीपीएस से सभी गाड़ियों की निगरानी कर रहे हैं। सभी गाड़ियों पर नजर है। मुख्तार को बांदा जेल के बैरक नंबर 15 में रखा जाएगा। यात्रा के दौरान रिकाॅडिंग कराई जा रही है। शाम 6 बजे काफिला उत्तर प्रदेष की सीमा में प्रवेश कर गया।

यह भी पढ़ेंः-जिस जेल में बंद है कुख्यात ददुआ डकैत उसी में बैरक नंबर 15 में रहेगा मुख्‍तार अंसारी

मुख्तार अंसारी को बांदा जेल लाए जाने के बीच मुख्यमंत्री आवास पर योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में उच्च स्तरीय बैठक हुई। बैठक में प्रमुख सचिव गृह, डीजीपी समेत सभी अफसर बैठक में मौजूद रहे। यूपी के कई जिलों को भी अलर्ट कर दिया गया है। सभी जानकारियांे से सीएम को अवगत कराया गया। पंजाब के रोपड़ से निकालने से पहले मुख्तार अंसारी का कोरोना टेस्ट कराया गया। सुबह जरुरी कानूनी प्रक्रिया के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस की टीम मुख्तार को लेकर रोपड़ जेल से रवाना हो गई। मुख्तार को एंबुलेंस में रखा गया है। इस दौरान डॉक्टरों की टीम भी साथ में है।

काफिले के साथ सात से आठ प्राइवेट गाड़ियां भी चल रही हैं। सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। एंबुलेंस के आगे-पीछे उत्तर प्रदेष पुलिस की कड़ी सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। करीब 10 गाड़ियों का काफिला बांदा के लिए रवाना हुआ, जिसमें 150 पुलिसकर्मी तैनात हैं। इन 150 पुलिसकर्मियों में यूपी पीएसी की एक कंपनी भी शामिल है। देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक 8 अप्रैल से पहले मुख्तार को यूपी पुलिस के हवाले करना है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पंजाब के गृह विभाग की ओर से उत्तर प्रदेश को चिट्ठी लिखी गई थी।

बांदा जेल में मुख्तार को लाए जाने से पहले वहां की सुरक्षा सख्त कर दी गई है। बांदा जेल की गेट पर पुलिस सुरक्षा बूथ बनाया गया है। जेल के बाहर पुलिस चैकी पर अतिरिक्त पुलिसकर्मियों की तैनाती है। इस बीच बाहुबली मुख्तार की पत्नी अफशां अंसारी ने आशंका जतायी है कि उनको फर्जी एनकाउंटर में मारने की साजिश रची जा सकती है। मुख्तार के भाई और गाजीपुर के बीएसपी सांसद अफजाल अंसारी ने इस बीच कहा है कि यूपी की जेल में मुख्तार के खिलाफ साजिश रची जा सकती है।

उन्होंने मुख्तार की सुरक्षा के लिए कोर्ट जाने की बात भी कही है। यूपी नंबर प्लेट की एंबुलेंस में मुख्तार अंसारी को पंजाब के मोहाली कोर्ट तक लाए जाने के मामले में भी बाराबंकी में मुख्तार के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। मऊ से पहली गिरफ्तारी भी हो गई है। उत्तर प्रदेश में मुख्तार पर अब तक 52 मुकदमे दर्ज हैं। उसके गैंग के 96 सदस्य गिरफ्तार हुए हैं। अब तक 192 करोड़ रुपये की ज्यादा की संपत्तियों को जब्त करने और गिराने की कार्रवाई भी हुई है।

यह भी पढ़ेंः-बाहुबली विधायक मुख्तार के लिए एम्बुलेंस बनेगी सिरदर्द, बुलेटफ्रूफ है एम्बुलेंस, सरकार कराएगी जांच

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here