इस राज्य में मोदी-शाह ने किया बहुत बड़ा खेल, एक झटके में 0 से 10 हुई बीजेपी

0
31
Loading...

हिन्दुस्तान की राजनीति के चाण्क्य मानें जातें हैं अमित शाह। कहां, एक वक्त था, जब भारतीय जनता पार्टी हाशिए पर खड़ी थी, लेकिन आज सत्ता के फलक पर पहुंच चुकी है। हर दिन भारतीय जनता पार्टी का परिवार फलीभूत होता जा रहा है। अभी कुछ ही दिन हुए थे, जब कर्नाटक के कुमारस्वामी के सियासी दुर्ग को विस्थापित कर बीजेपी अपना सियासी दुर्ग स्थापित किया था। ये भी पढ़े :कर्नाटक के बाद इस राज्य में मचा सियासी हड़कंप, 10 विधायकों ने ज्वॉइन की बीजेपी

कर्नाटक में उस वक्त ऐसी सियासी बयार चल रही थी की मानो जेडीएस के सभी विधायक स्वत: ही भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम रहे थे। हालांकि, कर्नाटक के तत्कालीन मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने इसे बीजेपी की साजिश करार देते हुए कहा था कि ये सब बीजेपी की साजिश है। बीजेपी लागातार हमारी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है, लेकिन अफसोस कुमारस्वामी के इन बयानों का अब कोई महत्व नहीं रह गया है।

वहीं, कर्नाटक वाली सियासी बयार अब सिक्किम में भी नजर आ रही है। सिक्किम, जहां पहले भारतीय जनता पार्टी  का कोई वजूद ही नहीं था। कोई अस्तित्व ही नहीं था। अपना खाता खोलने में भी पार्टी नाकाम रही थी। लेकिन, अब पार्टी यहां पर 0 से सीधा 10 पर आ गई, जिसे बीजेपी के लिए बड़ी उपलब्धी के तौर पर देखा जा रहा है। कर्नाटक के बाद सिक्किम की सियासी बयार इस बात को बखूबी बयां करती हुई नजर आ रही है कि मोदी शाह की रणनीति, भारतीय जनता पार्टी को राजनीति का सिरोमौर बना देगी। हालांकि अभी-भी अगर हम बीजेपी को सिरोमौर की संज्ञा दे तो कोई परेशानी नहीं होगी। देश में अभी सियासी फिजा बीजेपी के पक्ष में नजर आ रही है, जिसका ही ये नतीजा हुआ कि पिछले 25 सालों से पूर्वोंत्तर के मुख्य राज्य सिक्किम में शासन करने वाली सिक्किम डेमोक्रेटीक फ्रंट के 10 विधायक बीजेपी में  शामिल हो गए, जिसके कारण जहां राज्य में पहले बीजेपी का एक भी विधायक नहीं था। वहीं, अब बीजेपी 10 पर पहुंच चुकी है। पार्टी में अभी कुल 15 विधायक हैं।

यहां हम आपको बता दें कि पवन चामलिंग ने 1993 में सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट की स्थापना की थी। पार्टी ने उसके बाद पांच विधानसभा के चुनाव लड़े और सभी चुनावों में जीत दर्ज की थी। बता दें कि 1994, 1999, 2004, 2009 और 2014 के विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज की थी, लेकिन इस बार के चुनाव में सिक्कािम डेमोक्रेटिक फ्रंट को हार का मुंह देखना पड़ा था। तभी से इस बात का अंदाजा लागाया जा रहा था कि अब सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट हाशिए पर जा चुकी है। ये भी पढ़े :आधी रात को अमित शाह ने किया बस एक फोन, कर्नाटक को मिली नई सरकार

हमारा यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here