नई दिल्ली(new delhi)मोदी सरकार(modi government) ने आज किसानों और टेक्सटाइल सेक्टर को बड़ा तोहफा दिया है. कैबिनेट ने टेक्सटाइल सेक्टर के लिए 10683 करोड़ रुपये की प्रोडक्शन लिंक्ड इनसेटिव्स (PLI) स्कीम को मंजूरी दे दी है. ये इनसेंटिव्स 5 साल के दौरान टेक्सटाइल सेक्टर को दिए जाएंगे. इसके अलावा कैबिनेट ने किसानों के लिए कई बड़े ऐलान किए हैं. सरकार ने रबी की फसलों के लिए MSP बढ़ाने का फैसला किया है. जिसका लाभ देश भर के किसानों को मिलेगा.

बता दें कि कैबिनेट की बैठक के बाद हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) और I&B मंत्री अनुराग ठाकुर(anurag thakur) ने कैबिनेट के फैसलों की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि PLI स्कीम से भारतीय टेक्सटाइल सेक्टर को ग्लोबल तौर पर कंपटीटिव बनाने में मदद मिलेगी. इस PLI स्कीम से 7.5 लाख लोगों को सीधा फायदा पहुंचेगा.

पीयूष गोयल ने कहा कि वस्त्र उद्योग के लिये जितने कदम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(narendra modi) ने उठाए हैं, वह शायद ही पहले कभी उठाये गये हों. मुझे विश्वास है कि भारत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में अपना वर्चस्व दिखा पायेगा. उन्होंने कहा कि 10,683 करोड़ रुपये इंसेंटिव के रूप में प्रोडक्शन के ऊपर दिये जायेंगे. इस से हमारी कंपनियां ग्लोबल चैंपियन बनेंगी. जो कंपनियां टियर 3 या टियर 4 शहरों के पास हैं, उन्हें अधिक प्राथमिकता मिलेगी, साथ ही कितना रोजगार सृजन होगा, इस पर भी विशेष ध्यान दिया जायेगा. इस योजना का सीधा लाभ गुजरात, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और ओडिशा जैसे राज्यों को होगा.

बता दें कि कैबिनेट ने गन्ना किसानों के लिए 290 रुपये प्रति क्विंटल के खरीद भाव को मंजूरी दी, जो कि अबतक का सबसे ज्यादा भाव है. कैबिनेट ने मार्केटिंग सीजन 2022-23 के लिए रबी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) बढ़ाया. गेहूं के लिए MSP 1975 रुपये से बढ़ाकर 2015 रुपये किया. इस MSP पर उत्पादन लागत का उनका 100% किसानों को वापस हो जाएगा. चना की MSP साल 2022-23 के लिए 5230 रुपये प्रति क्विंटल कर दी गई है, जो कि पहले 5100 रुपये थी. मसूर की MSP 5100 रुपये से बढ़ाकर 5500 रुपये कर दी गई है. मस्टर्ड की MSP 4650 रुपये से बढ़ाकर 5050 रुपये कर दी गई है. कुसुम की MSP में भी 114 रुपये की बढ़ोतरी की गई है. अब ये 5327 रुपये से बढ़कर 5441 रुपये हो गई है.

इसे भी पढ़ें-क्या जावेद अख्तर की पोती हैं उर्फी जावेद? पत्नी शबाना आजमी ने खुद आगे आकर बताई सच्चाई