मोदी सरकार का बड़ा फैसला, गांधी परिवार से छीनी गई एसपीजी सुरक्षा

0
313
Loading...

मोदी सरकार ने गांधी परिवार को लेकर बड़ा फैसला लेते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, वर्तमान में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया व प्रियंका गांधी की एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली है। सरकार के इस फैसले के बाद से अब गांधी कुनबे के पास महज जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा शेष रह गई है। यहां हम आपको बताते चले कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद से ही एसपीसी सुरक्षाकर्मी उनकी सुरक्षा में मुस्तैदी से तैनात थे। ये भी पढ़े :अमेठी में पिटे गए राहुल गांधी? जानिए इस वायरल खबर का सच

कांग्रेस ने किया कड़ा विरोध
वहीं, केंद्र सरकार के इस फैसले का कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने आलोचना करते हुए कहा कि सरकार ने ये फैसला राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित होकर लिया है। इसी क्रम में कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की फेहरिस्त में शुमार सलमान खुर्शीद ने बयान जारी कर कहा, ‘सरकार का ये फैसला दुर्भाग्यपूर्ण है। यह राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित होकर लिया गया फैसला है। वहीं, कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने सरकार के इस फैसले पर अपनी बेरुखी जाहिर करते हुए कहा कि भाजपा अब निजी तौर पर बदला लेने पर उतर आई है।

इसके साथ ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वेणुगाोपाल ने सरकार के फैसले को लेकर कहा कि, ‘वो अटल बिहारी वाजपेयी की ही सरकार थी, जिन्होंने गांधी परिवार के दो प्रधानमंत्रियों इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की हत्या के बाद गांधी कुनबे को एसपीजी सुरक्षा देने का विचार किया था, लेकिन अफसोस पीएम मोदी और अमित शाह ने इसे हटा लिया।

अब बढ़ेगी शाह की सुरक्षा
इसके साथ हम आपको बताते चले कि सुरक्षा समिति की बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सुरक्षा बढ़ाने का फैसला लिया गया है। ऐसा बताया गया कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा प्रदान करने वाले धारा 370 को निरस्त करने के फैसले के बाद से शाह की जान को खतरा बढ़ा है। ऐसी परिस्थिति में शाह की सुरक्षा में आमूलचूल बदलाव करते हुए उनकी सुरक्षा को बढ़ाने का फैसला लिया गया है। ये भी पढ़े :तो शीला दीक्षित के कारण ही राजीव गांधी बने थे प्रधानमंत्री, गांधी परिवार की थीं करीबी

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here