Monday, December 6, 2021

मणिपुर में सेना के काफिले पर बड़ा हमला, पांच जवानों समेत सात की मौत

Must read

- Advertisement -

दिल्ली। मणिपुर में शनिवार को बड़ा आतंकी हमला हुआ है। दिन 10.00 बजे मणिपुर के चुराचांदपुर जिले के सिंघाट में आतंकियों ने इस हमले को अंजाम दिया। आतंकियों ने 46 असम राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी को निशाना बनाया। इस हमले में कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी, उनकी पत्नी और बेटे ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। इस हमले में चार और जवान शहीद हो गये। आतंकियों की इस नापाक साजिश ने 7 लोगों की जिंदगी छीन ली। बताया जा रहा है कि मणिपुर की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने इसे अंजाम दिया है। इस आतंकी संगठन का जन्म 1978 में हुआ था और तभी ये कई मौकों पर ऐसे हमले कर चुका है। शनिवार को हुए इस हमले को अब तक का सबसे घातक हमला माना जा रहा है।

बहुत ही घातक था हमला

- Advertisement -

बताया जा रहा है कि आतंकियों ने इस हमले को उस समय अंजाम दिया जब कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी फॉरवर्ड कैंप से वापस लौट रहे थे। उस समय उनके काफिले में उनका परिवार भी मौजूद था। आतंकियों को उनकी मूवमेंट की पूरी जानकारी थी, ऐसे में एक तय रणनीति के तहत सिंघाट में उनके काफिले को निशाना बनाया गया।\ मौके पर स्थिति को नियंत्रण में कर लिया गया है लेकिन अभी भी रुक-रुक कर फायरिंग होती दिख रही है। सेना ने पूरे इलाके को घेर रखा है और उन दहशतगर्दों को पकड़ने का प्रयास है। बताया गया है हमले के तुरंत बाद दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया था लेकिन बाद में उन्हें छोड़ दिया गया।

इस आतंकी हमले की हर तरफ निंदा हो रही है और मुंहतोड़ जवाब देने पर जोर दिया जा रहा है। मणिपुर सीएम बिरेन सिंह ने ट्वीट किया कि 46 असम राइफल्स के काफिले पर कायरतापूर्ण हमले की कड़ी निंदा करता हूं, इसमें सीओ और उनके परिवार समेत कुछ कर्मियों की मौत हो गई। राज्य के बल और अर्धसैनिक बल पहले से ही आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन चला रहे हैं. दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होगी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस हमले की कड़े शब्दों में आलोचना की है। उन्होंने कहा कि मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर कायराना हमला बेहद दर्दनाक और निंदनीय है। देश ने सीओ और उनके परिवार के दो सदस्यों समेत 5 सैनिकों को खो दिया।

यह भी पढ़ेंःसेना ने लश्कर के 6 आतंकियों को किया ढेर, रणनीति में बड़ा बदलाव कर दिया अंजाम

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article