अपहरण की नकली कहानी ने खोला हीरों के हेर-फेर का राज! दो तस्कर गिरफ्तार

33

मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है, जो हीरे का काला कारोबार करते थे। दरअसल यह खेल कई सालों से शातिराना तरीके से खेला जा रहा था, जिसकी पुलिस को भनक तक नहीं लगी थी। मामला उस वक्त सामने आया जब एक शख्स ने हीरे के कारण अपने अपहरण की झूठी कहानी रच दी थी। जी हां, हीरे के पैसे ना मिलने को लेकर शख्स ने अपने अपहरण की कहानी बनाई और अपनी मां से ही फिरौती मांगने का जाल बिछाया। दरअसल, पन्ना जिले की एक आदिवासी महिला को 4 महीने पहले खेत में काम करते हुए एक हीरा मिला था, हीरा मिलने की बात महिला ने अपने भाई राम विश्वास को बता दी। और फिर राम विश्वास ने यह बात ऐसे लोगों को बता दी दो हीरे की कालाबाजारी करते थे।

राम विश्वास की बात सुनकर शातिर तस्कर अगले ही दिन महिला के घर पहुंच गए और हीरे के बदले अच्छे पैसे दिलवाने की बात करने लगे।

हीरे तस्करों ने महिला को कहा कि हम इस हीरे को पन्ना के हीरा कार्यालय में जमा करा देंगे। इस बात को महिला और उसके भाई राम विश्वास ने मान ली। लेकिन कुछ दिन बीतने के बाद दोनों व्यापारियों ने न ही हीरे को हीरा कार्यालय में जमा कराया और न ही महिला को 1 लाख रुपए मिले।

पैसे नहीं मिलने के बाद तब राम विश्वास और उसका भांजा कल्लू पन्ना तस्करों के पास पहुंचे तो उन्होंने फिर से वही बात दोहराते हुए कहा कि पैसे कल तक आपके घर पहुंच जाएंगे, लेकिन एक सप्ताह तक तस्करों का कुछ अता-पता नहीं चला। न ही पैसे पहुंचे न ही महिला को हीरा वापस मिला। ऐसे में महिला के बेटे कल्लू को लगा कि कहीं मामा ने पैसे तो नहीं ले लिए. लिहाजा भांजे कल्लू ने अपने अपहरण की कहानी रची और आवाज़ बदल कर मां से एक लाख रुपये की फिरौती मांग डाली।

मामला हीरे से जुड़ा था लिहाजा पुलिस हरकत में आ गई और कल्लू को खोज निकाला तो वह फर्जी अपहरण निकला लेकिन इस फर्जी अपहरण से असली हीरे के काले कारोबार की भनक लग गई, और असली हीरा कालाबाजारी के लोग पुलिस के हत्थे चढ़ गए। पीड़ित ने बृजपुर थाने में मामले की शिकायत की थी. पुलिस ने दोनों हीरा तस्करों को गिरफ्तार कर लिया जिनके पास से 3.29 कैरेट का हीरा भी जब्त कर लिया गया।

एसपी मयंक अवस्थी ने बताया कि अपहरण की सूचना मिली थी, जिसकी जांच पड़ताल की गई तो असली हीरा कारोबारियों के गोरखधंधे का पर्दाफाश हो पाया। पुलिस के मुताबिक तस्करों के पास से जब्त किए गए हीरे की कीमत करीब 8 लाख के करीब है। जिसे हीरा कार्यालय में सौंपा जाएगा।

ये भी पढ़ें:-मजदूर को खदान में मिले तीन बेशकीमती हीरे, कर रहा था मिट्टी साफ चमक गई किस्मत