मनरेगा जॉब कार्ड पर लगी दीपिका पादुकोण की तस्वीर, सामने आई हैरान करने वाली सच्चाई

45

मध्य प्रदेश से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. जिसने एक्ट्रेस के नाम पर चल रहे फर्जीवाड़े का खुलासा कर दिया है. दरअसल पूरा मामला राज्य के खरगोन जिले की एक ग्राम पंचायत से जुड़ा है. जहां पर बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) समेत कई अभिनेत्रियों की तस्वीर रोजगार गारंटी जॉब कार्ड पर लगाकर पंचायत सचिव और रोजगार सहायक लोगों को बेवकूफ बना रहे थे और जमकर फर्जीवाड़े का खेल खेल रहे थे. लेकिन अब इसका पर्दाफाश हो गया है. खबर के मुताबिक ऑनलाइन जॉब कार्ड पर ग्रामीण महिला-पुरुषों की फोटो के साथ एक्ट्रेस की भी तस्वीरें लगाई गई थीं. हैरानी वाली बात तो ये है कि, इन जॉब कार्ड्स पर मजदूरी की राशि भी दी जा चुकी है. यहां तक कि गांव में रहने वाले कई लोगों को इस बात की भनक तक नहीं लगी है कि उनके नाम की राशि जारी हो गई है, जो कभी काम पर आए ही नहीं.

ये भी पढ़ें:- हर महिला के बैंक में मोदी सरकार जमा कर रही है 2 लाख 20 हजार रूपये? जानें सच्चाई

दरअसल जिला मुख्यालय से 70 किलोमीटर की दूरी पर झिरनिया जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत पीपलखेड़ा नाका में बॉलीवुड एक्ट्रेसेस की तस्वीरें महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना जॉब कार्ड में चिपकाई गई हैं. इस बारे में जब जॉब कार्ड के असली सदस्यों से बात की गई तो पता चला कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी ही नहीं है कि उनके नाम से कितनी और कब राशि दी गई है. लेकिन उनके जॉब कार्ड पर अभिनेत्रियों की तस्वीरें लगी हैं.

इसके साथ ही जिन लोगों के पास ये जॉब कार्ड उपलब्ध हैं उन पर उनके क्रमांक में भी काफी अंतर आ रहा है. इनमें से कई किसान तो ऐसे हैं जिनके पास 50 एकड़ जमीन है. लेकिन फिर भी उनके नाम जॉब कार्ड बनाए गए हैं. लेकिन उनकी तस्वीरों के साथ उसमें एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण की भी तस्वीर लगी है. MNREGA job cardआपको जानकर हैरानी होगी कि इस गांव में करीब 15 जॉब कार्ड ऐसे मिले हैं जिन पर सिर्फ एक्ट्रेस की फोटो लगी है. इन नामों में, सोनू शांतिलाल से लेकर मोनू शिवशंकर, सूरज रुखड़िया, मंगत बाबूलाल, अनारसिंह वेस्ता, गोविंद डोंगर सिंह, पदम सिंह रूपसिंह, उमराव सिंह, खुशियाल हीरालाल का नाम शामिल है.

इस बारे में बात करते हुए जॉब कार्ड धारी मनोज उर्फ मोनू दुबे ने बताया कि, मैंने ऐसा कोई भी कार्ड नहीं बनवाया है और न कभी मजदूरी करने गया. ये मेरा फर्जी कार्ड है जिसे मंत्री और सचिव ने मिलकर बनाया है. साथ ही 30,000 रुपये भी निकाले हैं. MNREGA job cardउन्होंने कहा कि मेरे इस जॉब कार्ड पर दीपिका पादुकोण की तस्वीर लगी है, जिसकी हम शिकायत करेंगे. इसी तरह से और भी कई लोग हैं जिनका ये कहना है कि उनके नाम पर ऐसे फर्जी कार्ड बनाकर अभिनेत्रियों की तस्वीर लगाई गई है, और उनके पैसे निकाले जा रहे हैं.

फिलहाल इस पूरे मामले के बारे में बात करते हुए आईएएस अधिकारी, जिला पंचायत सीईओ गौरव बैनल ने बताया कि, ये मसला अभी सामने आया है, जिसमें 11 जॉब कार्ड के बारे में शिकायत मिली है. जिन पर कुछ नामचीन हस्तियों की तस्वीरें लगी हैं, और इन कार्डों के बल पर कुछ दिनों में राशि भी निकाली गई है और मस्टररोल भरे गए हैं.MNREGA job card हालांकि अब पूरे केस की तहकीकात की जाएगी और पता लगाया जाएगा कि आखिर किस तरीके से जॉब कार्ड जारी किए गए हैं, और उनमें क्या सच्चाई है. आखिर कार्ड पर अभिनेत्रियों की तस्वीरें कैसे लगी? इसके बाद जांच में जो भी शख्स आरोपी पाया जाएगा उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये वही जनपद पंचायत झिरनिया है, जिसने हाल ही में मनरेगा के तहत सौ प्रतिशत मजदूरी भुगतान करने के रिकॉर्ड में देश में पहले नंबर पर पाया गया था. MNREGA job cardइस उपलब्धि के बाद 15 अगस्त को जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी महेंद्र कुमार श्रीवास्तव को मनरेगा योजना में अच्छा कार्य करने के लिए सम्मानित भी किया गया था.

ये भी पढ़ें:- मनरेगा की हो रही थी खुदाई, फिर अचानक मजदूरों को मिला मुगलकालीन सिक्कों से भरा घड़ा