bjp jitin prasad

नई दिल्ली। कांग्रेस में एक बार फिर उथल-पुथल मच गयी है। पार्टी के दिग्गज नेता और राहुल गांधी की टीम में शामिल पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने आज बीजेपी का दामन थाम लिया है। उन्हें केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने पार्टी में शामिल कराया। इसे उत्तर प्रदेश में होने वाले विधान सभा चुनाव से पहले का बड़ा सियासी उलटफेर माना जा रहा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद के बीजेपी में शामिल के बाद केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि उत्तर प्रदेश की राजनीति में जितिन प्रसाद की अहम भूमिका होने वाली है। वहीं भाजपा शामिल होने के बाद जितिन प्रसाद ने कहा कि मैंने लगभग 7-8 साल में अनुभव किया कि असल मायने में कोई संस्थागत राजनीतिक दल है वह केवल भाजपा है। बाकी दल तो व्यक्ति विशेष और क्षेत्र के होकर रह गए हैं।

हाईकमान से जता चुके थे नाराजगी

जितिन प्रसाद ने कहा कि वर्तमान समय में देश जिन चुनौतियों और परिस्थितियों का सामना कर रहा है, उससे अगर कोई दल निपट सकता है तो सिर्फ बीजेपी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा देश को हर मुश्किल से बचा सकती है। उन्होंने कहा कांग्रेस में रहकर भी मैं लोगों की सेवा नहीं कर पा रहा था। मुझे उम्मीद है कि बीजेपी के माध्यम से मुझे अधिक से अधिक लोगों की सेवा करने का अवसर प्राप्त होगा। बताया जा रहा है कि जितिन प्रसाद बीते लंबे समय से कांग्रेस हाईकमान से असंतुष्ट थे। वह कई बार इस बात को लेकर नाराजगी भी जता चुके थे कि कांग्रेस में तवज्जो नहीं मिलती। साथ ही वह यूपी कांग्रेस के कुछ नेताओं से अपनी नाराजगी जाहिर भी कर चुके हैं। जितिन प्रसाद की शिकायत पर पार्टी हाईकमान ने कभी भी ध्यान देने की जरूरत नहीं समझी। यही वजह है कि आज उन्होंने कांग्रेस का साथ छोड़कर बीजेपी का हाथ थाम लिया।

ब्राह्मणों को दिया संदेश

बता दें कि उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इसके मद्देनजर भाजपा यूपी में अपने सभी सियासी समीकरण दुरुस्त करने में जुट गई है। खबर है कि पार्टी से ब्राह्मणों का एक बड़ा तबका असंतुष्ट है। ब्रह्मणों की यह नाराजगी उत्तर प्रदेश की मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से है। ऐसे में बीजेपी, जितिन प्रसाद को पार्टी शामिल कराकर ब्राह्मणों को एक बड़ा संदेश देना चाहती है। कभी कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो चुके ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जितिन के भाजपा में शामिल होने पर ख़ुशी जताई है। उन्होंने कहा ‘मुझे खुशी है कि वह पीएम मोदी और गृह मंत्री शाह के नेतृत्व में बीजेपी में शामिल हो रहे हैं, वह मेरे छोटे भाई हैं और मैं उनके लिए खुश हूं।’ सचिन पायलट पर सिंधिया ने कहा, ‘पायलट के साथ मेरा रिश्ता निजी है और मैं इस पर टिप्पणी नहीं करना चाहता कि बीजेपी के अंदर क्या हो रहा है।’

इसे भी पढ़ें:-UP Elections 2022: पार्टी में शुरू हुआ मंथन, इस आधार पर दिया जाएगा बीजेपी विधायकों को टिकट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here