श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में त्राल के ऊपरी इलाकों में मारे गए जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादियों में शामिल आतंकी वकील शाह भी था। आतंकी शाह और कोई नहीं वही था, जिसने बीते जून में भाजपा नेता राकेश पंडित की हत्या की थी। पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने शनिवार को यह जानकारी दी। मालूम हो कि बीते दो जून को दक्षिण कश्मीर के त्राल में देर रात आतंकियों ने भाजपा नेता राकेश पंडिता की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस हमले में तीन आतंकी शामिल थे, जिसमें से जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी वकील शाह को शनिवार को सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में मार गिराया है। इस मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए हैं। जिनके पास से दो एके-47 राइफल, एक एसएलआर और अन्य सामान बरामद किया गया है।

त्राल में देर रात आतंकियों ने भाजपा नेता रकेश पंडिता कि गोली मारकर हत्या कर दी थी। अगले दिन शव जम्मू स्थित रूप नगर में उनके घर लाया गया। अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे लोगों ने कहा कि इस कायराना हमले को अंजाम देने वालों का जल्द से जल्द खात्मा किया जाए और कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा मुहैया कराई जाए। राकेश पंडिता मूल रूप से त्राल के रहने वाले थे, लेकिन वर्तमान में उनका परिवार जम्मू में है। कश्मीरी पंडित समुदाय से कई लोग विभिन्न सियासी दलों से जुड़कर घाटी में सक्रिय हैं। इससे पूर्व भी कई कश्मीरी पंडित नेताओं की हत्या हो चुकी है।

उधर, पुलिस ने दावा किया था कि राकेश पंडिता को निजी सुरक्षा के लिए दो पीएसओ दिए गए थे, लेकिन वह बिना सुरक्षा के ही त्राल चले गए। पुलिस के अनुसार राकेश पंडिता पुत्र सोमनाथ पंडिता हमले वाले दिन त्राल बाला इलाके में अपने मित्र मुस्ताक भट के घर आए थे। इसी दौरान तीन अज्ञात आतंकियों ने राकेश पंडिता पर करीब से फायरिंग कर दी। राकेश पंडिता त्राल नगर पालिका के अध्यक्ष थे। राकेश पंडिता के बेटे पारस पंडिता ने हमले के बाद बताया था कि उनके पिता राकेश पंडिता को एक साजिश के तहत निशाना बनाया गया।

इसे भी पढ़ें:गोरखपुर में 76 गांव पानी से घिरे, 43 हजार 412 लोग प्रभावित, खतरे के निशान से ऊपर है नदियों का जलस्तर