जैश की बड़ी साजिश, पुलिस टीम को बनाया निशाना, दो जवान शहीद

95
terrorist attack on police team

जम्मू-कश्मीर (Jammu kashmir) में पाकिस्तानी आतंकियों का खौफ खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. लगातार आतंकी संगठन सुरक्षाबलों को अपनी नापाक साजिशों का निशाना बना रहे हैं. शुक्रवार की सुबह श्रीनगर के बाहरी इलाके में नौगाम बाईपास पर आतंकियों ने पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया जिसमें दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए जबकि एक जवान घायल बताया जा रहा है. हमले के बाद से सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है जिससे आतंकियों को पकड़ा जा सके. हमले पर जम्मू-कश्मीर पुलिस के IG विजय कुमार का कहना है कि, पुलिस पार्टी पर हमले करने के पीछे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हाथ है.

सेना के काफिले को निशाना
पहली बार जवानों की टीम या काफिले को आतंकियों ने निशाना नहीं बनाया है. पिछले कुछ दिनों से लगातार सेना के काफिले और पुलिस पार्टी को आतंकी अपना निशाना बनाते हुए हमला कर रहे हैं. दो दिन पहले ही बारामूला के सोपोर में एक सेना की टुकड़ी पर हमला हुआ था जिसमें एक जवान घायल हुआ था.

इस हमले पर बताया जा रहा है कि, आतंकियों ने सेना-CRPF और जम्मू-कश्मीर पुलिस की साझा पार्टी पर हमला किया था. आतंकियों ने पुलिस पर गोलीबारी की जिसकी जवाबी कार्रवाई में पुलिसकर्मियों ने भी हथियार उठाए. लेकिन मौका पाते ही आतंकी घटनास्थल से भागने में कामयाब हो गए.

आतंकियों को खोजबीन तेज
जिस तरह से आतंकी लगातार सुरक्षाबलों को अपना निशाना बना रहे हैं. उसी तरह सेना घाटी के कोने-कोने में छुपे आतंकियों को ढूंढ-ढूंढकर निकाल रही है. पिछले दिनों जब पुलवामा जिले के सेब बागान में आतंकियों ने छुपने की कोशिश की थी तब भी उनके साथ सुरक्षाबलों की मुठभेड़ हुई थी. जिसमें सेना ने आतंकी आजाद अहमद लोन को ढेर कर दिया था. इस हमले में सेना का एक जवान भी शहीद हो गया था.

ये भी पढ़ेंः- मारा गया खूंखार आतंकी इश्फाक, जम्मू-कश्मीर आईजी ने कहा- अब नहीं बचा कोई दहशतगर्द