LAC पर फिर बड़ी टेंशन, चीन के अड़ियल रवैये का जवाब देने के लिए भारत ने उठाया सख्त कदम

258
LAC

LAC पर भारत और चीन के बीच तनाव लंबे समय से जारी है। दोनों देशों के बीच इस तनाव को कम करने के लिए कई स्तर की बैठके जरूर हुई है लेकिन बैठकों के बीच भी चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आता। जिस वजह से सीमा का तनाव समय के साथ बढ़ता जा रहा है। वहीं, अब एक बार फिर भारत और चीन तनाव से जुड़ी बहुत बड़ी खबर आई है। भारत ने चीन को एक सख्त संदेश दिया है। भारत ने चीन को LAC के कुछ क्षेत्रों से सेना को हटाने को कहा है लेकिन चीन ने इस मामले पर भी अपना अड़ियल रवैया दिखाया है। जिसके बाद भारत ने भी चीन को कड़ा जवाब देने का फैसला लिया है।

दरअसल चीन के अड़ियल रवैये के बाद शनिवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक उच्च स्तरीय बैठक की। इस बैठक में सैन्य तैयारी और लद्दाख के स्थिति की समीक्षा की गई। बैठक में राजनाथ के साथ तीनों सेनाओं के प्रमुख मौजूद थे। इसके अलावा मीटिंग में CDS जनरल बिपिन रावत और NSA अजीत डोभाल मौजूद रहे। इस बैठक में थल सेनाध्यक्ष एमएम नरवण ने एक प्रजेंटेशन दी। जिसमें भारत की रक्षा तैयारियों के बारे में राजनाथ सिंह को जानकारी दी गई। वहीं, बैठक में फैसला लिया गया कि चीन के अड़ियल रवैये के चलते हर चाल का जवाब देने के लिए LAC से सेना नहीं हटाई जाएगी।

बता दें कि चीन की हर चाल का जवाब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी लाल किले की प्रचीर से दे चुके है। पीएम मोदी ने 15 अगस्त के मौके पर चीन और पाकिस्तान की हर चाल को मुंहतोड़ जवाब देने का ऐलान किया था और कहा था कि जो भी देश की संप्रभुता को नुकसान पहुंचाएगा। उसको करारा जवाब दिया जाएगा। पीएम मोदी ने कहा था कि आपदा के बाद भी सीमा पर देश के सामर्थ्य को चुनौती देने की गंदी कोशिश हुई है लेकिन LoC से लेकर LAC तक देश की संप्रभुता पर जिस किसी ने भी आंख उठाई, देश की सेना ने हमारे वीर जवानों ने उसका उसी की भाषा में जवाब दिया है।

ये भी पढ़ें:-चीन की विस्तारवादी नीति का शिकार हुआ नेपाल, ड्रैगन के बुने जाल में बुरे फंसे केपी ओली