दोनों फ्रंट पर युद्ध करने को तैयार भारत, वायुसेना प्रमुख ने दी खुलेआम चीन को चेतावनी

216
Air Force Chief RKS Bhadauria

भारत-चीन (India-china) के बीच तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है. लद्दाख सीमा पर दोनों देशों के बीच चल रही तनातनी दुनियाभर से छिपी नहीं है. इसी बीच देश के वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया (Air Force Chief RKS Bhadauria) की ओर से एक बड़ा बयान सामने आया है. इस बयान में वायुसेना के चीफ ने खुलेआम ये बात कह दी है कि भारत उत्तर भारत में दोनों फ्रंट पर युद्ध करने के लिए पूरी तरह से तैयार है. वायुसेना प्रमुख के इस बयान से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि, चीन और पाकिस्तान जिस तरह से लगातार तनाव का माहौल बना रहा है उसमें भारत उन्हें टक्कर देने के लिए पूरे दमखम के साथ मुस्तैद हो चुका है.

ये भी पढ़ें:- चीन को टक्कर देने के लिए तैयार भारत! अब ब्रह्मोस मिसाइल का किया परीक्षण, दुश्मन की चाल को देगा जवाब

अपने बयान में आगे वायुसेना चीफ ने ये भी बताया है कि, सुरक्षा के बेड़े में राफेल के शामिल होने के बाद वायुसेना की ताकत और ज्यादा बढ़ गई है. साथ ही ये शक्ति हमें और भी ज्यादा मजबूत होने का हौसला देगी. ये एक ऐसा हथियार है जिससे हम जल्दी और कठोर कार्रवाई कर सकेंगे. इसके आगे आरकेएस भदौरिया ने ये भी कहा कि, आने वाले पांच सालों में तेजस से लेकर कॉम्बैट हेलिकॉप्टर, ट्रेनर एयरक्राफ्ट समेत कई सारे घातक और ताकतवर हथियार वायुसेना मजबूती का कारण बनेंगे.

इतना ही नहीं दुश्मन के खिलाफ हुंकार भरते हुए आरकेएस भदौरिया ने कहा कि, वायुसेना भारत और चीन के साथ दोनों फ्रंट पर जंग के लिए पूर्ण रूप से तैयार है. क्योंकि चीन की चालबाजी की सारी जानकारियां मई में ही मिल गई थीं, और उसी समय से भारतीय जवानों और वायुसेना ने एक्शन लेना शुरू कर दिया था. आगे उन्होंने ये भी बताया कि, ईस्टर्न फ्रंट पर वायुसेना मजबूती के साथ तैनात है, और ऐसे में ये सवाल ही नहीं पैदा होता कि, चीन हम से बेहतर हालात में है. क्योंकि समय और स्थिति के साथ वायुसेना ने तेजी से बदलाव लाए हैं और बहुत सी कमियों को खत्म कर दिया है. इसके आगे बात करते हुए भदौरिया साहब ने कहा कि, सीमा से संबंधित सारी अहम जगहों पर हमनें अपनी मौजूदगी बढ़ा दी है, लद्दाख उसका सिर्फ एक अंग है. इसलिए देश को ये यकीन होना चाहिए कि उनकी सेना पूरी तरह तैयार है.

ये भी पढ़ें:- जमीन और हवा की दोस्ती चीन को देगी मात, दुश्मन पड़ोसियों के खिलाफ बनी ये रणनीति