Tuesday, January 19, 2021
Home देश चीन से जारी विवाद के बीच भारत ने बनाई नई योजना, Spice-2000...

चीन से जारी विवाद के बीच भारत ने बनाई नई योजना, Spice-2000 बम खरीदने की कर रहा तैयारी

दुश्मनों से छिड़े विवाद के बीच अब भारत अपनी सैन्य ताकत को जमीनी स्तर पर और भी ज्यादा मजबूत करने के लिए भारी संख्या में स्पाइस 2000 बम खरीदने का प्लान बना रहा है. दरअसल ये वही स्पाइस 2000 बम है, जिसका प्रयोग भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) ने पाकिस्तान की ओर से किए गए पुलवामा अटैक (Pulwama Attack) के बाद बालाकोट एयरस्ट्राइक (Balakot Air Strike) में किया था. बताया जा रहा है कि इन बमों का नया वर्जन खरीदने की प्लानिंग में भारत लगा हुआ है. बता दें कि ये ऐसे बम है जिनका निशाना जमीन पर काफी घातक साबित होता है. यही वजह है कि इन बमों का अडवांस्ड वर्जन खरीदा जा सकता है. ये प्लान ऐसे समय में भारत बना रहा है, जब चीन से लगातार सीमा विवाद तूल पकड़ता जा रहा है. ऐसे में ये कहा जा रहा है कि भारत, सीमा से जुड़े विवाद के बीच अपने जमीनी टारगेट्स को निशाना बनाने से जुड़ी शक्ति को और भी ज्यादा भारत मजबूत करना चाहता है.

ये भी पढ़ें:- चीन के खिलाफ जंग में भारत को इन 4 देशों ने दी मजबूती, जल्द पहुंचाएंगे हथियारों का जखीरा

इमरजेंसी पावर फंड
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चीन से जारी खिंचातनी के बीच देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने भारतीय सेनाओं को इमरजेंसी पावर के तहत 500 करोड़ रुपए दिए हैं. ऐसे में भारतीय सेनाओं को देश की रक्षा से जुड़े हथियार खरीदने की पूरी छूट दी गई है. हाल ही में एक सरकारी सूत्र ने समाचार एजेंसी एनएनआई से बात करते हुए कहा है कि इंडियन एयरफोर्स के पास पहले से ही स्पाईस 2000 बम मौजूद हैं. लेकिन अभी भी सेना इसी तरह के और अडवांस्ड बम खरीदने की तैयारी कर रही है.

स्पाइस 2000 बम की टारगेट क्षमता
आपको बता दें कि ये स्पाइस 2000 बम लगभग 70 किलोमीटर की दूरी को टारगेट बनाने की क्षमता रखते हैं. लेकिन यदि इसके नए वर्जन खरीदे जाते हैं तो वो बम और भी मजबूत बंकरों को उड़ाने में सक्षम साबित होंगे. जानकारी के मुताबिक जब उरी हमला हुआ था, तो उसके बाद भी साल 2016 में भारतीय सेनाओं को इसी तरह इमरजेंसी पावर के तहत फंड दिया गया था.

बालाकोट एयरस्ट्राइक
पुलवामा में 14 फरवरी के दिन हुए हमले के बारे में आज तक कोई भारतीय नहीं भूला है. इस दिन जैश के आतंकियों ने पुलवमा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था. जिसमें भारत देश के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस घटना के बारे में जानने के बाद हर भारतीय नागरिक के जहन में पाकिस्तान के खिलाफ सिर्फ क्रोध की आग जल रही थी. जिसका बदला लेने के लिए हमले के 13 दिन बाद ही भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर एयरस्ट्राइक की थी. कहा जाता है कि इस बड़े स्ट्राइक हमले में पाकिस्तान के भारी संख्या में आतंकी मारे गए थे. जिसे पाकिस्तान नकारता रहा है.

ये भी पढ़ें:- दिखने लगा राजनाथ सिंह के रूस दौरे का असर, बहुत जल्द मिलेंगे भारत को यह घातक हथियार, खौफ में आया चीन  

Most Popular