भारत में बन रहा है दुनिया का 5वां सबसे बड़ा एयरपोर्ट…मोदी सरकार का ड्रीम प्रोजक्ट

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में दुनिया का 5वां सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनाने की रणनीति फिर से शुरू हो गई है। ग्रेटर नोएडा के प्रस्तावित जेवर एयरपोर्ट के लिए इन दिनों जिस तरह का प्रस्ताव तैयार किया गया है। उसके हिसाब से इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से दोगुना एयरपोर्ट ग्रेटर नोएडा में बनाया जाएगा। ये एयरपोर्ट प्रस्ताव के अनुसार, 2022-23 में तैयार हो जाएगा। जिसके बाद यह दुनिया का 5वां सबसे बड़ा हवाई अड्डा बन जाएगा। दरअसल दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लोड कम करने के लिए जेवर एयरपोर्ट की मांग लंबे समय से की जा रही है। लेकिन इस एयरपोर्ट से सिर्फ इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का भार कम नहीं होगा। बल्कि इसके साथ स्थानीय लोगों का इस एयरपोर्ट के जरीए आर्थिक विकास, पर्यटन, रोजगार और व्यवसाय की काफी बढ़ेगा। जिसके चलते इन सब चीजों की वजह से ही काफी समय से इस एयरपोर्ट की मांग हो रही थी। जिसके बाद अब राज्य सरकार ने इस एयरपोर्ट के लिए पैसे आवंटित कर काम शुरू कर दिया है। योजना के अनुसार, सबसे पहले स्थानीय प्रशासन ने जमीन अधिग्रहण का काम भी शुरू कर दिया है।

बता दें कि जेवर एयरपोर्ट के लिए द नोएडा इंटरनेशन एयरपोर्ट लिमिटेड एक प्रस्ताव तैयार कर रही है। जिसमें एयरपोर्ट को 6 रनवे से बढ़ाकर 8 रनवे का बनाने का सुझाव है। लेकिन 8 रनवे के इस प्रोजेक्ट को एनआईएएल जमीन अधिग्रहण की तैयारी पूरी होने के बाद ही राज्य सरकार के पास भेजेगी। वही एक बार प्रोजेक्ट के पहले चरण के लिए जमीन का अधिग्रहण (1,239 हेक्टेयर भूमि) कर लिया जाता है तो द नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (एनआईएएल) जेवर एयरपोर्ट को 6 से बढ़ाकर 8 रनवे करने की मंजूरी के लिए राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजेगी। जिसके बाद अगर राज्य सरकार 8 रनवे की मंजूरी जेवर एयरपोर्ट के लिए दे देता है तो इसे लगभग 5 हजार हेक्टेयर जमीन पर तैयार किया जाएगा। जिसके बाद ये एयरपोर्ट दुनिया का 5वां सबसे बड़ा एयरपोर्ट बन जाएगा। दुनिया के 5 सबसे बड़े इंटरनेशनल एयरपोर्ट में 4 अमेरिका में हैं जबकि एक एशिया से है। वही भारत का सबसे बड़ा एयरपोर्ट हैदराबाद एयरपोर्ट है जो करीब 2,224 हेक्टेयर क्षेत्र (5,496 एकड़) में फैला है।

राजनाथ सिंह का सपना
हालांकि आपको बता दें कि जेवर में दुनिया का 5वां सबसे बड़ा एयरपोर्ट उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह ने देखा था। 2001 में राजनाथ सिंह ने एयरपोर्ट के लिए परियोजना भी पास की। लेकिन उसके बाद बसपा और सपा की सरकार होने के चलते ये योजना ठंडे बस्ते में चली गई। लेकिन अब योगी आदित्यनाथ की सरकार ने इस काम को फिर से शुरू किया है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने पिछले साल अगस्त में जमीन अधिग्रहण के लिए 800 करोड़ रुपए आवंटित कर दिया था। इसके बाद यूपी सरकार ने नवंबर 2018 में जमीन अधिग्रहण के लिए 1,260 रुपए का फंड पास कर दिया था। अब पिछले महीने के अंत में राज्य सरकार ने विस्थापित परिवारों के लिए पुर्नवास का खातिर 894 करोड़ रुपए जारी कर दिए हैं। ये भी पढ़ें:-दुनिया के सबसे ताकतवर शख्स बने पीएम नरेन्द्र मोदी..पुतिन-ट्रम्प भी पीछे छूटे

सौजन्य:- Biz Tak

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,092,598FansLike
5,000FollowersFollow
5,023SubscribersSubscribe

Latest Articles