बढ़ सकता है LAC पर तनाव! नहीं बदली ड्रैगन ने अपनी पोजिशन, भारत को उठाना पड़ा ये कदम 

251

आज की तारीख में भारत और चीन के बीच रिश्तों के क्या सुरत-ए-हाल है। यह किसी से छुपा नहीं है। अनवरत पूर्वी  लद्दाख के वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास तनाव की स्थिति बरकरार है। वहीं जब से भारतीय सेना ने ब्लैक टॉप पर कब्जा कर लिया है, तब से चीनी सैनिकों की बौखलाहट अपने चरम पर पहुंच गई है। इससे पूर्व गत 29, 30 और 31 अगस्त को भी चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा पर घुसपैठ की कोशिश की थी, लेकिन भारतीय सेना के शोर्य के आगे इन्हें नतमस्तक होना पड़ा और उल्टे हाथ वहां से रूखसत होना पड़ गया। इसके बाद कुछ ही दिनों के बाद फिर चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा पर घुसपैठ की थी, लेकिन चीन सैनिकों की यह कोशिश भी नाकाम ही साबित हुई।

सीमा पर तैनात हुए भारतीय सैनिक 
अब ऐसी स्थिति में जब भारत और चीन के बीच अनवरत तनाव बढ़ रहा है तो एक तरफ जहां भारत अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ चीन अपने सैनिकों को तैनात कर रहा है। स्थिति अब ऐसी हो चुकी है कि महज 500 मीटर की दूरी पर दोनों देशों के सैनिक तैनात हैं। ऐसे में दोनों देशों के बीच मौजूदा हालात की संजीदगी को सहज ही भांप सकते हैं। पिछले 48 घंटों में पैंगोंग झील के उत्तर में हलचल काफी ज्यादा बढ़ गई है। खबर है कि फिंगर 3 के पास भारतीय सैनिकों की संख्या में काफी इजाफा किया गया है। उधर, सूत्रों के हवाले से यह खबर आई है कि पैंगोंग झील के पश्चिम की तरफ चीन की सेना अनवरत आगे बढ़ने की कोशिश कर रही है। याद दिला दें कि गत 20, 30 और 31 अगस्त को हुई झड़प के बाद भारतीय सैनिक ऊंची चोटी पर पहुंच गए हैं, जिसके बाद से ड्रैगन की बौखलाहट अपने चरम पर पहुंच गई है।

फिंगर चार का इलाका भी नहीं हुआ खाली 
यहां पर हम आपको बताते चले कि फिंगर-4 का इलाका भी खाली नहीं किया गया है। यहां पर भी भारी संख्या में चीनी सैनिक तैनात किए गए हैं। सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक, यह इलाका अभी तक खाली नहीं हुआ है और अभी भी यहां पर तकरीबन 4 हजार चीनी सैनिक तैनात है, जो कि अनवरत जारी वार्ता के बावजूद भी अपनी पोजिशन से टस से मस नहीं हो रहे हैं। चीन के इसी रूख के बाद फिंगर-3 के पास भारत ने भी अपने सैनिकों को भारी संख्या में तैनात किया है। अब ऐसी स्थिति में अनवरत दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ रहा है।

दोनों देशों के सैनिक महज 500 मीटर की दूरी के फासले के पास से तैनात हैं। दोनों ही देशों के सेना हथियारों से लैस है। ऊंची पहाड़ियों से दोनों ही देशों की सेना एक-दूसरे को देख रही है। फिंगर-4 को ग्रीन टॉप कहा जाता है, यहां पर भी चीन की सेना तैनात है। उधर भारत ने चीनी सैनिकों के फिंगर-4 पर जारी कब्जे को मद्देनजर रखते हुए ऊंची पहाड़ियों पर कब्जा कर लिया है। ये भी पढ़े :भारत चीन सीमा से बड़ी खबरः घुसपैठ की साजिश नाकाम, फिर हुई झड़प