Homeदेशइमरान खान ने पीएम मोदी को चिट्ठी भेजी..मिला ऐसा जवाब..अब आएगी आतंकियों...

इमरान खान ने पीएम मोदी को चिट्ठी भेजी..मिला ऐसा जवाब..अब आएगी आतंकियों की शामत

- Advertisement -

भारत और पाकिस्तान विश्व के ऐसे दो देश हैं जिनके रिश्तें काफी हद तक बिगड़ चुके हैं। पाकिस्तान आतंक को समर्थन करता है तो दूसरी तरफ भारत अपने नागिरकों की सुरक्षा को प्राथमिकता देता है। यही कारण है कि, पीएम मोदी पाक के पीएम इमरान खान से बातचीत करना पंसद नहीं करते। हाल ही में जब पाकिस्तान की तरफ से पीएम मोदी के लिए बधाई संदेश आया तो उसके जवाब में पीएम मोदी ने इमरान खान को चिट्ठी लिखी। जिसमें उन्होंने हर बार की तरह ही आतंकवाद का जिक्र किया। चिट्ठी में पीएम मोदी ने लिखा कि, दोनों देशो के बीच एक अनुकूल वातावरण बनाने पर पुनर्विचार करना चाहिए। जो सिर्फ आतंक का रास्ता छोड़ने के बाद ही संभव है।

दरअसल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और विदेश मंत्री एफएम कुरैशी ने भारत के पीएम मोदी और विदेश मंत्री एस.जयशंकर को बधाई संदेश भिजवाया था। इसी बधाई का संदेश भारत की तरफ से दिया गया। जिसमें साफतौर पर ये कहा गया कि, ‘आतंक का रास्ता छोड़ने के बाद ही दोनों देशों के बीच कुछ बात बनेगी। अन्यथा तनाव बढ़ता ही चला जाएगा।’

बात अगर पाक पीएम इमरान को भेजी गई चिट्ठी की करें, तो उसमें भारत की तरफ से आतंक मुक्त होने की बात कही गई है। पर इस संबंध में दोनों देशों के बीच बातचीत कब शुरू होगी। इस पर कोई फैसला फिलहाल नहीं लिया गया है। चिट्ठी में भारत ने अपने पड़ोसी देशों के साथ दोस्ती के संबंध रखने की बात कही है। साथ ही ये कहा गया है कि, भारत के लिए सबसे पहली प्राथमिकता देश की जनता का विकास रहा है। हालांकि पाक ने कई बार भारत से बात करने की कोशिशें की हैं। लेकिन भारत का हर बार यही कहना है कि, जब तक पाक आतंकवाद के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं करेगा तब तक पाक से की बातचीत नहीं की जाएगी।

अगर आपको याद हो तो, बीते दिनों जब पीएम मोदी एससीओ सम्मेलन में शामिल हुए थे तब उन्होंने वहां भी पाक पीएम इमरान खान से दूरियां बनाई रखी हुई थीँ। इस बीच उन्होंने अपने संबोधऩ में भी आतंकवाद का जिक्र किया था। साथ ही सभी देशों से आतंक के खिलाफ एकजुट होने की बात कही थी। ये भी पढ़ेंः- मोदी ने SCO में दिलाई भारत को बड़ी जीत घोषणापत्र में आतंकवाद के खात्मे का जिक्र

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here