Homeदेशमैं TMC समर्थक होने पर शर्मिंदा हूं...कोलकाता मेयर की बेटी की बात...

मैं TMC समर्थक होने पर शर्मिंदा हूं…कोलकाता मेयर की बेटी की बात सुनकर बौखलाई ममता बनर्जी

- Advertisement -

बंगाल हिन्दुस्तान में एक ऐसा राज्य है, जो अमूमन अपनी सियासी हिंसाओं को लेकर चर्चा में बना रहता है। बीजेपी का आरोप है कि वहां पर तानाशाही जैसे स्थिति उत्पन्न हो रही है। वर्तमान में बंगाल में रेजीडेंट डॉक्टर आंदोलनरत हैं। उनका कहना है कि हम आप लोगों की जान बचाते हैं, लेकिन ये दुर्भाग्य की बात है कि हमारी ही जान को खतरा बना हुआ है। एक डॉक्टर ने तो यहां तक कहा कि हम एमबीबीएस में 19 विषय पढ़ते हैं, लेकिन हमारे लिए काफी अच्छा रहेगा कि अगर आप एक विषय पढ़ ले  कि ‘कैसे हम डॉक्टरों को बचाएं’। ये भी पढ़े :टीएमसी की दो महिला सांसदों का हॉट डांस हुआ वायरल ;सोशल मीडिया पर कमेंट की बाढ़

अब इसी बीच, पश्चिम बंगाल के मेयर फहरीद हकीम की बेटी सबाह हकीम जो एक डॉक्टर हैं। उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट से इस मामले को लेकर अपनी राय रखते हुए कहा कि डॉक्टरों को शांतिपूर्ण तरीके से काम करने और काम के दौरान सुरक्षा पाने का पूरा हक है। इसके साथ ही उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट पर अपनी राय बेबाकी से रखते हुए कहा कि वे लोग डॉक्टरों को न तो सरकारी अस्पतालों में जानते हैं और न ही प्राइवेट अस्पतालों में, वे तो ओपीडी में अपने काम का बहिष्कार कर रहे हैं, लेकिन इमरजेंसी में काम कर रहे हैं। हम अन्य पेशों की तरह अपने काम से मना नहीं कर सकते हैं क्योंकि अंत में हमारे पास भी इंसानियत है। अगर कोई बस या टैक्सी ड्राइवर है। जो आंदोलन पर उतर आया हो, तो कोई बात नहीं तब चीजे हो सकती है।

इसके साथ ही उन्होंने लोगों से गुहार लगाते हुए कहा कि मेहरबानी करके सरकार से सवाल पूछिए की जो पुलिसकर्मी अस्पताल में तैनात थे। उन्होंने डॉक्टरों को बचाने के लिए क्यों कुछ नहीं किया। वहीं, उन्होंने ये भी कहा कि लगातार राज्य में डॉक्टर अपनी आत्मरक्षा के लिए आंदोलनरत हैं। वे लगातार सरकार से मांग कर रहे हैं कि उनकी सुरक्षा को पुख्ता किया जाए। लेकिन, मैं टीएमसी समर्थक होने के नाते बेहद शर्मिंदा हूं कि सभी टीएमसी नेता इस मामले को लेकर मौन धारण किए हुए हैं। ये भी पढ़े :ममता राज में गुंडागर्दी ;BJP कार्यकर्ताओं पर दागे गए टियर गैस के गोले, बरसाई लाठियां

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here